Marriage Relationship

ये 11 टिप्स सुधारेंगे सास के साथ आपके रिश्ते

इन-तरीकों-से आप-भी-बन-सकती-हैं-अपने-सास-की-पसंद
Written by Neeru Sharma

शादी के बाद लड़की के लिए उसका ससुराल ही उसका परिवार होता है और सास-ससुर, माँ-बाप होते है। ससुराल में सबसे ख़ास चीज सास-बहु की जोड़ी होती है और अगर यह जोड़ी सही से चल पड़े तो परिवार में किसी चीज की दिक्कत नहीं आती। आपने अक्सर देखा होगा पति-पत्नी के अलग होने का सबसे बड़ा कारण सास-बहु की लड़ाई होती है और ऐसे में मजबूरन पति को पत्नी के साथ अलग रहना पड़ता है

वक्त के साथ-साथ इस रिश्ते में भी सुधार आया है। आज के समय में जिस समाज में लड़कियों की कमी है वहां सास अपनी बहु का बहुत ख्याल रखती है और अपनी बेटी बनाकर रखती है तो बहु भी अपना कर्तव्य पूरी जिम्मेदारी के साथ निभाती है। लेकिन ऐसा हर जगह नहीं होता। किसी ना किसी वजह से सास-बहु के रिश्ते में तनाव आ ही जाता है।

सास अपने बहु की बुराइयां करते नहीं थकती और बहु अपनी सास की बुराइयां करते नहीं थकती। सदियों से सास-बहु का रिश्ता कड़वाहट भरा माना जाता है। लेकिन कहीं-कहीं सास-बहु के रिश्ते इतने अच्छे से चलते है की बहु को अपने मायके की याद भी नहीं आती है। आज की इस पोस्ट में हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बता रहे है जिससे सास-बहु के रिश्ते को बहुत अच्छा बनाया जा सकता है।

सास-बहु के रिलेशनशिप के लिए टिप्स:

  • सास को कभी भी अपनी बेटी की तुलना बहु से नहीं करनी चाहिए और बहु को सास की तुलना अपनी माँ से नहीं करनी चाहिए, क्योंकि माँ-बेटी का रिश्ता अपने आप में बहुत अलग है इसलिए इस रिश्ते की तुलना सास-बहु के रिश्ते से ना करें तो बेहतर है।
  • सास को शादी के बाद बेटे को अपनी गिरफ्त से आजाद कर देना चाहिए ताकि बेटे और बहु का वैवाहिक जीवन सही से चल सके और सास-बहु का रिश्ता और मजबूत बन सके।
  • बहु को भी अपनी गृहस्थी और बच्चों की जिम्मेदारी सास पर नहीं छोड़नी चाहिए। बहु को सास की उम्र का भी ख्याल करना चाहिए।
  • अगर सास-बहु दोनों हठीले और जिद्दी स्वभाव की है तो दोनों को नम्र होना चाहिए और साथ ही थोड़ी दुरी भी बनाये रखें।
  • बहुएं हमेशा अपनी सास की इज्जत करें। अपनी सास में अपनी माँ का रूप देखें और ध्यान रखें की वे बुजुर्ग है तो उनसे जिंदगी के अनुभव ले। सास के साथ बातें करें, उनके बचपन के किस्से सुने, उनसे जिंदगी की बातें सीखें। इससे उन्हें अच्छा लगेगा और आपका रिश्ता मजबूत बनेगा।
  • सास के अनुभव को देखते हुए उनसे सुझाव लेना गलत नहीं है। अगर आपको उनका सुझाव पसंद नहीं आता है तो व्यक्तिगत लेने की जरूरत नहीं है क्योंकि मानना और ना मानना आप पर निर्भर करता है।
  • जब बहु माँ बनने वाली होती है तो उस दौरान वो अपने मायके होती है। ऐसे में सास को उनसे मिलने जाना चाहिए और फ़ोन पर उनका हाल पूछना चाहिए। इससे आप दोनों का रिश्ता मजबूत होगा और बहु को लगेगा की उनकी सास उनसे कितना प्यार करती है।
  • शादी के बाद माँ को यह डर लगा रहता है की कहीं उनका बेटा बदल ना जाए और बहु को डर रहता है की उसका पति उनसे ज्यादा खुद की माँ की सुनता है ऐसे में रिश्ते में मनमुटाव आने लगता है। ऐसे में दोनों को अपनी समझ को विकसित करने की जरूरत है। माँ को चाहिए की बेटे को थोड़ी आजादी और पत्नी को चाहिए की पहला हक माँ का होता है इस बात को समझे।
  • बहु अगर कामकाजी है तो घर के काम में हाथ नहीं बंटाती और अगर बहु घर का काम करती है तो सास रोक-टोक करती है तो रिश्ते में तनाव आना तय है। ऐसे में दोनों मिलकर काम करे तो लड़ाई-झगड़े की कोई बात ही नहीं रहती।
  • बार-बार मायके जाने की बात सास को अच्छी नहीं लगती। यह बात सीधा बोलने की बजाय मौक़ा आने पर मन की भडास निकालती है। आप भी ध्यान रखें की शादी के बाद ससुराल ही आपका घर है, इसलिए बार-बार मायके जाने से बचें।
  • कुछ सास अपनी बहु की तुलना अन्य बहुओं से करती है और बहुएं भी ससुराल की बातें बाहर जाकर करती है। इससे रिश्ते में खोखलापन बढ़ने लगता है जो की रिश्ते को कमजोर करता है। घर की बातें घर में रखें तो ही सही है और सास भी ध्यान रखें की अपनी बहु की तुलना किसी और से ना करें।

About the author

Neeru Sharma

मेरा नाम नीरू है और में एक रिलेशनशिप ब्लॉगर हूँ. मुझे खासकर शादीशुदा जिंदगी के बारे में लिखना पसंद है. शादी के बाद पति-पत्नी मैं किस तरह की समस्याएं आती है और उनका समाधान किस तरह से किया जा सकता है, इन सभी चीजों को आप मेरे ब्लॉग से जानेंगे. अगर आप अपनी शादीशुदा जिंदगी को खुशहाल बनाना चाहते है तो एक बार मेरे ब्लॉग को जरुर विजिट करें.

Leave a Comment