Ayurveda Treatments

आइये जानते है अश्वगंधा के फायदे और नुक्सान

ashwagandha-benefits-uses-side-effects
Written by Surbhi

अश्वंगधा क्या है? Ashwagandha ke Benefits, Uses, and Side Effects

आपने अश्वगंधा के बारे में तो सुना होगा, खासकर बाबा रामदेव के मुंह से तो बहुत बार सुना होगा।  ये एक आयुर्वेदिक दवा है जो कैप्सूल और पाउडर दोनों रूपों में मिलती  है।  ऐसा कहा जाता है ये दवा कई बीमारियों के लिए रामबाण है।  कई लाइलाज बीमारियाँ इस दवा से ठीक हो जाती है।  आज की पोस्ट में हम अश्वगंधा के फायदे और नुक्सान के बारे में जानेगे।

अश्वगंधा-के-फायदे-और-नुक्सान

अश्वगंधा के कुछ अदभुत और कारगर फायदे |  Ashwgandha Benefits in Hindi

इम्युन सिस्टम मजबूत करने में मदद

अश्वगंधा दवा में ऑक्सीडेंट होता है जिसके सेवन से व्यक्ति का इम्युनिटी सिस्टम मजबूत हो जाता है।  इम्युनिटी सिस्टम मजबूत होने से वो कई बीमारियों से बचे रहते है जैसे सर्दी,खासी आदि।  इसके सेवन से दोनों तरह के सेल्स यानि रेड और वाइट सेल्स दोनों बढते है।  इन दोनों की सही संख्या बनी रहने से कई बीमारियों के इलाज में मदद मिलती है।

स्ट्रेस लेवल को कण्ट्रोल करने में मदद

स्ट्रेस यानि मानसिक तनाव कई बीमारियों की जड होता है।  इस बीमारी को अश्वगंधा ठीक कर सकता है।  एक्सपर्ट्स के अनुसार ये दवा 70 परसेंट इस परेशानी को दूर करने में सफल होती है।  मानसिक तनाव कम होने से व्यक्ति को नीद भी अच्छी आती है।  

कैंसर से बचाव और इलाज में मदद

एक्सपर्ट्स के अनुसार अश्वंगंधा का प्रयोग कैंसर जैसी घातक और खतरनाक बीमारी में भी अच्छा असर दिखाता है।  इसके सेवन से कैंसर नही बढता।  ये कैंसर के सेल्स को बढ़ने नही देता।  इतना ही नही ये रिएक्टिव ऑक्सीजन स्पीशीज भी बनाता है जो व्यक्ति को कीमोथैरेपी की वजह से होने वाले कई नुकसानों से बचाता है और धीरे धीरे कैंसर के सेल्स को भी खत्म करता जाता है।  

सफेद पानी की बीमारी का इलाज

सफेद पानी यानि लिकोरिया जैसी समस्याओ में भी अश्वगंधा काफी फायदेमंद है।  सफेद पानी की समस्या ज्यादातर महिलाओ को होती है।  इस वजह से उनको काफी कमजोरी आने लगती है।  इतना ही नही इसका बुरा असर उनके गर्भाशय पर भी पड़ता है।  इस बीमारी को आप अश्वगंधा के इस्तेमाल से दूर कर सकते है।

आंखो के लिए फायदेमंद

ऐसा माना जाता है जो अश्वगंधा का नियमित सेवन करते है उनके आँखों की रौशनी बढती है।  इसे रोज आप दूध के साथ ले, इससे आपको फायदा होगा।

हृदय के लिए फायदेमंद

इसके सेवन से दिल की मॉसपेशियाँ मजबूत होती है।  दिल की बीमारी के लिए कोलेस्ट्रोल अच्छा नही होता।  अश्वगंधा का सेवन इसे कम रखेगा जो हृदय के लिए अच्छा होता है।

अवसाद में अच्छा असर

अवसाद यानि डिप्रेशन की बीमारी के लिए अश्वगंधा फायदेमंद है।

संधिवात के लिए फायदेमंद

इस दवा का इस्तेमाल संधिवात यानि rheumatologic problems में भी लाभकारी है।  इसके सेवन से दर्द और सूजन कम हो जाती है।

बैक्टीरिया संक्रमण से बचने में मदद

आयुर्वेद के अनुसार अश्वगंधा में जीवाणु विरोधी गुण होता है जिस वजह से इसके सेवन से शरीर में बैक्टीरिया के संक्रमण जैसे श्वसन तंत्र, मूत्रजनन और जठरांत्र संक्रमण को कम करने और कण्ट्रोल करने में मदद मिलती है।

घाव ठीक करने में मदद

अश्वगंधा का प्रयोग चोट के घाव को ठीक करने में भी मदद करता है। अश्वगंधा के पौधे की जड़ो को पीसे और घाव पर लगा ले, आराम आएगा।

मधुमेह रोगियों के लिए उपयोग

जिनको शुगर की समस्या है उनके लिए अश्वगंधा फायदा पहुचती है। सिर्फ चार महीने तक इसके इस्तेमाल से इन्सुलिन बढता है जिससे शुगर लेवल कण्ट्रोल में रहता है।

कामोद्दीपक

सालो से अश्वगंधा का प्रयोग कामोद्दीपक की दवा के रूप में किया जाता रहा है।  इसके सेवन से व्यक्ति में ताकत आती है, वीर्य की गुणवत्ता और प्रजनन क्षमता बढती है।  

थायराइड में फायदा

जिनको थायराइड की समस्या होती है अगर वो इसका इस्तेमाल करते है उनका थाइरोइड कण्ट्रोल में रहता है।

मेटाबोलिज्म बढाने में मदद

अश्वगंधा के नियमित और सही तरीके से सेवन से आप मेटाबोलिज्म को दुरुस्त कर सकते है,इसकी वजह है इसका एंटी ओक्सिडेंट होना।  

मॉसपेशियाँ मजबूत करने मदद

जिनकी मॉसपेशियाँ कमजोर है उनको अश्वगंधा का इस्तेमाल करना चाहिए।  इसके इस्तेमाल से मासपेशियाँ को ताकत मिलेगी और कमजोरी दूर होगी।  

मोतियाबिंद को ठीक करने में फायदेमंद

अश्वगंधा में साइटोप्रोटेक्टिव और एंटीऑक्सीडेंट तत्व होते है जिस वजह से इसके सेवन से व्यक्ति को मोतियाबिंद बीमारी में फायदा होता है।

त्वचा को फायदा

अश्वगंधा में एंटीऑक्सीडेंट होता है जिस वजह से त्वचा में होने वाली परेशानीयां जैसे काली धब्बे और झुर्रियों से आराम मिलता है।

बालों के लिए फायदेमंद

अश्वगंधा में मेलेनिन को नुक्सान होने से बचाने का गुण है।  इससे असमय सफ़ेद होना और बालो का झड़ना रोका जा सकता है।   

अश्वगंधा का प्रयोग कैसे करे आइये जानते है-

बाज़ार में अश्वगंधा की जड़ या पाउडर आसानी से मिल जाता है।  2 चम्मच अश्वगंधा पाउडर को 3 कप पानी में 15 मिनट उबाले और फिर इसे छानकर चाय पी ले।  

इसे आप रात को सोने से पहले गर्म दूध के साथ ले सकते है।  इसके लिए घी करीबन आधा कप और उसमे  अश्वगंधा करीबन 2 चम्मच डाले और भून लें। मिठास के लिए इसमें उस चीनी का प्रयोग करे जो खजूर से बनती है।  इस चीनी को घी और अश्वगंधा में डाले और फिर इस मिश्रण को एक डब्बे में डालकर  फ्रिज में रख दे।  रात को दूध में एक चम्मच डाले और पी ले।

अश्वगंधा के नुकसान | Side Effects of Ashwagandha

आपने सुना होगा किसी भी चीज की अति खतरनाक होती है।  इससे अश्वगंधा भी अछुता नही है।

  • इसके ज्यादा सेवन से थकान, दर्द या बुखार हो सकता है।
  • इसका अधिक प्रयोग पेट को भी क्षति पहुचता है।  व्यक्ति को डायरिया हो सकता है।
  • इसकी तासीर गर्म होती है इसलिए इसे हमेशा किसी चीज में मिलाकर पीना चाहिए।
  • जिनके शरीर में पित्त ज्यादा है उनको इसका सेवन नही करना चाहिए।
  • जिनको ब्लड प्रेशर की समस्या है उनको बिना डॉक्टर की सलाह के अश्वगंधा नही लेना चाहिए।
  • अगर अश्वगंधा को सही तरीके न लिया जाए तो व्यक्ति को उलटी और घबराहट हो सकती है।

नोट – अश्वगंधा का इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श जरुर करे।

About the author

Surbhi

मेरा नाम सुरभि है और ब्लोगिंग मेरा पेशन है. में अपने ब्लॉग पर आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खों के बारे में बताती हु. आप सभी जानते है की आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खे हमारे लिए कितना फायदेमंद है और इनका किसी तरह का साइड इफ़ेक्ट नहीं है. इसलिए में अपने ब्लॉग पर आपको आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खों के बारे में बताउंगी ताकि आप इन्हें अच्छे से जान सके और बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के खुद में बदलाव ला सके.

Leave a Comment