Ayurveda Treatments

बिच्छु बूटी के फायदे और नुकसान | Nettle Leaf ke Fayde or Nuksaan

bicchu-booti-in-hindi
Written by Surbhi

आपने बिच्छु को देखा होगा की कैसे वो डंक मारता है तो आदमी पानी तक नहीं मांगता है. इसी तरह बिच्छु बूटी भी है जिसे डंक मारने वाले पौधे के रूप में जाना जाता है. बिच्छु की तरह डंक मारने के कारण इसे बिच्छु बूटी कहा जाता है. इस बूटी को छुने से त्वचा में जलन फ़ैल जाती है.

इस बूटी की सबसे ज्यादा खेती अफ्रीका, यूरोप, एशिया आदि में की जाती है. आपमें से शायद ही कोई बिच्छु बूटी यानी नेटल लीफ के बारे में जानता होगा. आज हम आपको बताएँगे की बिच्छु बूटी क्या है, इसके फायदे और नुकसान क्या है तथा इसमें कौन-कौनसे पोषक तत्व पाए जाते है. 

बिच्छु बूटी क्या है? | Nettle Leaf Meaning in Hindi

यह एक जंगली जड़ी-बूटी है जो बारह मास रहती है. इसे अक्सर खरपतवार या बेकार पौधे के रूप में जाना जाता है. लेकिन इसमें कई ऐसे गुण है जो हमारे लिए बहुत फायदेमंद साबित हो सकते है. अपने गुणों के कारण यह पौधा शोध का विषय बन चुका है. इसका वैज्ञानिक नाम अर्टीका डाइओका है. यह मुख्य रूप से हमारे लिए एंटीओक्सिडेंट के काम करता है. आईये जानते है इसके फायदे और नुकसान के बारे में.

बिच्छु बूटी में पाए जाने वाले पोषक तत्व | Nutrients Found in Nettle Leaf

  • एमिनो एसिड
  • फ्लावोनाइडस
  • केरोटीनोइड
  • कैल्शियम
  • मैग्नीशियम
  • विटामीन A, C, D, E, K

बिच्छु बूटी के फायदे | Benefits of Nettle Leaf in Hindi

1. ब्लड प्रेशर कम करने में

जिन लोगो को हाई ब्लड प्रेशर की शिकायत है उनके लिए बिच्छु बूटी बहुत फायदेमंद है. इसका नियमित रूप से सेवन करने से ब्लड प्रेशर को कण्ट्रोल करने में मदद मिलती है. बिच्छु बूटी नाइट्रिक ओक्साइड का स्रोत है जिस वजह से ब्लड प्रेशर में यह बहुत लाभकारी है.

2. डायबिटीज को रोकने में

जिन लोगो को टाइप 2 का डायबिटीज होता है उनके लिए बिच्छु बूटी बहुत फायदेमंद है. अगर आपको भी इस तरह का डायबिटीज है तो आप बिच्छु बूटी की चाय पी सकते है.

3. टेंशन को कम करने में

आज के समय में भागदोड़ भरी जिंदगी में 70% लोग तनाव से घिरे हुए है. आज के माहौल में हर व्यक्ति को किसी ना किसी चीज को लेकर टेंशन है. ऐसे में तनाव से छुटकारा पाने के लिए बिच्छु बूटी की चाय बहुत गुणकारी है. इसके अलावा बिच्छु बूटीमें विटामीन C भी पाया जाता है जो भी तनाव को कम करने में मदद करता है.

4. हृदय के लिए

बिच्छु बूटी से बनी चाय का नियमित सेवन करने से हृदय रोग दूर होते है और हार्ट अटैक का खतरा भी कम होता है. यह ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रोल के स्तर को कम करता है जिससे की हृदय की बीमारीयों में मदद मिलती है.

5. शरीर से विषाक्त पदार्थ बाहर निकालने में

बिच्छु बूटी में कई तरह के फायदेमंद जड़ी-बूटियाँ पाई जाती है जिस वजह से यह शरीर में से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद मिलती है. बिच्छु बूटी पाचन तंत्र को दुरस्त करती है जिससे शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालने में मदद मिलती है.

6. प्रेगनेंसी में फायदेमंद है बिच्छु बूटी

अक्सर गर्भवती महिलाओं को बिच्छु बूटी पिलाने की सलाह दी जाती है. जो महिला ज्यादा लेबर पेन से गुजर रही होती है उनके लिए बिच्छु बूटी की चाय बहुत फायदेमंद है. जो महिलाएं स्तनपान करवा रही है उनके लिए भी बिच्छु बूटी बहुत लाभकारी है.

7. मासिक धर्म के दौरान

मासिक धर्म के दौरान महिला को काफी दर्द और रक्तस्राव का सामना करना पड़ता है. ऐसे में जो महिला मासिक धर्म से गुजर रही है उनके लिए बिच्छु बूटी बहुत लाभकारी है. यह मासिक धर्म के बाद के बदलावों को सामान्य बनाने में मदद करती है.

8. अस्थमा में

अस्थमा और मौसमी एलर्जी में बिच्छु बूटी बहुत फायदेमंद है. इसमें कई तरह की ऐसी जड़ी-बूटियाँ सम्मिलित है जो की अस्थमा को कम करने में मदद करती है तथा मौसमी बीमारियों से निजात दिलाती है.

9. वजन कम करने में

बिच्छु बूटी की बनी चाय शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करती है जिससे वजन कम करने में मदद मिलती है. इसके साथ ही यह हमारी पाचन प्रणाली को सही करती है और जिससे खाना भी आसानी से पचता है. अगर आप भी अपना वजन कम करना चाहते है तो बिच्छु बूटी की बनी चाय रोजाना पीयें.

10. यौन समस्या को दूर करने में

बिच्छु बूटी में ऐसे पोषक तत्व पाए जाते है जो यौन समस्या को दूर करते है और टेस्टेस्टेरान के लेवल को बढाते है जिससे समय से पहले स्खलन, सेक्स ड्राइव, कामेच्छा, सहनशक्ति में बढ़ोतरी आदि की समस्या को दूर करते है. इससे सेक्सुअल रिलेशनशिप मजबूत बनता है.

बिच्छु बूटी के नुकसान | Side-effects of Nettle Leaf in Hindi

  • प्रेग्नेंट महिला को बिच्छु बूटी का अधिक इस्तेमाल नहीं करना चाहिए क्योंकि इसका अधिक सेवन करने से हार्मोनल असंतुलन बिगड़ सकता है जिस वजह से भ्रूण का विकास रुक सकता है.
  • ज्यादा बिच्छु बूटी का सेवन करने से मतली, उलटी, पेट दर्द, सिर दर्द आदि की समस्या हो सकती है.
  • अगर आप ब्व्लूद प्रेशर के मरीज है तो आपको थोड़ी मात्रा में बिच्छु बूटी का सेवन करना चाहिए. ऐसे में इसका इस्तेमाल करने के दौरान डॉक्टर की सलाह जरुर ले.
  • अगर आपका खून को पतला करने की दवाई ले रहे है तो आपको बिच्छु बूटी का सेवन नहीं करना चाहिए.
  • अगर आप कोई अन्य दवाई ले रहे है तो इसके सेवन से बचें अन्यथा आपको अनिंद्रा की शिकायत हो सकती है.
  • इसका ज्यादा सेवन करने से ज्यादा पेशाब आने की समस्या हो सकती है.
  • अगर आप किसी तरह की कीडनी की समस्या से परेशान है तो इस दवा का उपयोग ना करें.
  • इसका अधिक इस्तेमाल करने से पुरुषों में वीर्यस्खलन की कमी हो जाती है.

आज की इस पोस्ट में आप अच्छे से समझ गए होंगे की बिच्छु बूटी क्या है, इसके फायदे और नुकसान क्या है. उम्मीद करता हु की आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी और अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और कमेंट बॉक्स में अपने विचार दे ताकि हम आगे भी आपके बीच ऐसी अच्छी से अच्छी पोस्ट ला सके.  

About the author

Surbhi

मेरा नाम सुरभि है और ब्लोगिंग मेरा पेशन है. में अपने ब्लॉग पर आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खों के बारे में बताती हु. आप सभी जानते है की आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खे हमारे लिए कितना फायदेमंद है और इनका किसी तरह का साइड इफ़ेक्ट नहीं है. इसलिए में अपने ब्लॉग पर आपको आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खों के बारे में बताउंगी ताकि आप इन्हें अच्छे से जान सके और बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के खुद में बदलाव ला सके.

1 Comment

Leave a Comment