Gharelu Nuskhe Treatments

Amazing Benefits of Canola Oil in Hindi | केनोला तेल इन हिंदी

canola-oil-fayde-in-hindi
Written by Surbhi

हमारे शरीर के अच्छे स्वस्थ्य के लिए पोषक तत्वों के साथ साथ फैट की भी बहुत जरूरत होती है।  सही मात्रा में अगर फैट और पोषण नहीं मिलता तो शरीर ढंग से काम नहीं कर पाटा है। शरीर में फैट की सही मात्रा को बनाएं रखने में केनोला तेल मदद करता है। इसमें सैचुरेटेड फैट कम होता है और अंसतुरतेड़ फैट की मात्रा सही होती है। इस तेल का इस्तेमाल ज़्यदातर खाना पकाने में किया जाता है।

आइए केनोला आयल के बारे में और जानते है।

केनोला आयल है क्या ?

केनोला पौधों के बीज से हमे केनोला तेल प्राप्त होता है। यह पौधा ब्रासिका परिवार का हिस्सा है। गोभी, फूल गोभी, और ब्रोकली जैसी सब्जियां भी इसी परिवार का हिस्सा मानी जाती है। इस पौधे के बीजों के अच्छे से पकने के बाद कुचलकर केनोला तेल निकाला जाता है। केनोला का पौधा तीन फ़ीट ऊँचा होता है और इसके फूल सुगन्धित और पीले रंग के होते है।

केनोला के बीज के फायदें

केनोला आयल के बीजों में बहुत सारे पोषक तत्व होते है। इन तत्वों में पॉलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड, मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड, संतृप्‍त वसा, एंटीआक्‍सीडेंट गुण, एंटी-इंफ्लामैट्री जैसे गन शामिल है। यह सभी गुण हमारे स्वास्थय के लिए बहुत फायदेमंद होते है।

केनोला तेल के फायदें

  • यह तेल हमरे अच्छे स्वास्थय के लिए बहुत  फायदेमंद रहता है। इसके अनेक फायदें है जिनकी वजह से हमारा स्वास्थय एक दम सही रहता है। इस तेल में संतृप्‍त वसा की मात्रा बहुत कम होती है। इसके साथ साथ यह कोलेस्ट्रॉल फ्री भी होता है। इसीलिए यह हमारे शरीर को नुकसान नहीं पहुंचाता और फायदेमंद साबित होता है। यह सभी गुण इस तेल को खाद्य तेल के रूप में इस्तेमाल होने की अनुमति देते है। केनोला आयल कोरोनरी बिमारियों के खतरों को कम करने में सहायता करता है। केनोला आयल नॉन एलर्जिक होता है। इसीलिए इसके सेवन  से किसी भी प्रकार की एलर्जी नहीं होती है।
  • इसके साथ साथ इसमें मौजूद ओमेगा-6 फैटी एसिड मस्तिष्क के विकास में भी सहायता करता है। इस तेल में ओमेगा-3 फैटी एसिड की अच्छी मात्रा होती है। यह दिल के दौरे और शरीर में स्ट्रोक से बचने में सहायता करती है। खाना पकाने के लिए केनोला आयल का इस्तेमाल करने से शरीर के मेटाबोलिज्म में भी वृद्धि होती है।
  • केनोला आयल शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करने में भी फायदेमंद होता है। शरीर में कोलेस्ट्रॉल का अवशोषण प्लांट स्टेरोल की मदद से काम किया जा सकता है। ऐसा होने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल 10-15 प्रतिशत कम हो जाता है। केनोला आयल शरीर में ख़राब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करने में मदद करता है। इसके साथ साथ यह अच्छे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को बढ़ाने में मदद करता है।
  • केनोला आयल आपकी त्वचा के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। केनोला आयल में विटामिन इ  की अच्छी मात्रा पायी जाती है। यह त्वचा से संभंधित समस्याओं को दूर रखने में मदद करती है। मुहासें , माहिम रेखाएं , झुर्रियों से समस्याओं से लड़ने में यह आयल मदद करता है।  त्वचा के लिए आयल और क्रीम बनाते वक़्त भी केनोला आयल का प्रयोग किया  जाता है। यह त्वचा को चमकदार और सुन्दर बनाने में मदद करता है।
  • केनोला आयल सूजन को भी कम करता है।गठिया की वजह से होने वाली सूजन को दूर करने में भी केनोला आयल मदद करता है। बोवेल डिसऑर्डर्स और अस्थमा से होने वाली सूजन को भी केनोला आयल दूर करने में मदद करता है।
  • केनोला आयल शरीर में ऊर्जा बढ़ाने में भी मदद करता है। केनोला आयल में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम होती है। इसके साथ साथ यह एंटीऑक्सिडेंट्स से भरपूर होता है।  इन्ही कारणों की  वजह से केनोला आयल का सेवन शरीर के चयापचय को संचालित करने में सहायता करता है। इस तेल के सेवन से आप अपने शरीर की सुस्ती दूर कर सकते है।  ऐसा होने से आपके हृदय की गतिविधियों पर ज्यादा तनाव नहीं होता है।
  • केनोला आयल का सेवन आपके शरीर में कैंसर होने के खतरे को भी कम करने में मदद कर सकता है। इस तेल में ऐसे कई सारे एंटीऑक्सिडेंट्स होते है जो कैंसर का खतरा कम करने में सहायक हो सकते है। इस में मौजूद विटामिन इ ऐसा करने में सहायक होता है। अगर किसी को पहले से कैंसर है तो केनोला आयल कैंसर के प्रभाव को कम करने में मदद कर सकता है। इसके साथ साथ ये तेल कैंसर के उपचार में भी इस्तेमाल किया जाता है।
  • केनोला आयल दिमाग के स्वास्थय के लिए भी सहायक होता है। केनोला आयल के एंटीऑक्सिडेंट्स मुक्त कण से लड़ने में मदद करते है। यह मुक्त कण ही मस्तिष्क को नुकसान पहुंचाते है। यह तेल अल्‍जाइमर जैसी बीमारी के खतरे को कम करने में भी मदद करता है। इसके अलावा डेमेंटिया डिजीज के खतरे को भी कम करने में यह तेल सहायक हो सकता है।
  • केनोला आयल आपके बालों को भी कई फायदें देता है। यह आपके बालों के पोषण के लिए जरूरी होता है। इस तेल को गरम करने के बाद अपने बालों में लगाने से आप कई समस्याओं से दूर हो सकते है। जैसे की रूखापन,बालों का टूटन आदि समस्याएं इस तेल के प्रयोग से दूर करि जा सकती है।
  • अपने  डैमेज हुए वे बालों को भी आप केनोला आयल की मदद से सही कर सकते है। ख़राब बालों के उपचार में केनोला आयल का प्रयोग किया जाता है। सूरज की रौशनी, धुल और प्रदुषण से बालों पर होने वाले खराब असर को भी दूर करने में भी केनोला आयल मदद करता है। केनोला आयल आपके क्षतिग्रस्त बालों को मॉइस्चरिजे करके रिपेयर करता है।

केनोला आयल के नुकसान क्या है ?

हर चीज़ के कुछ फायदें होते है और कुछ नुकसान भी। केनोला आयल के भी अनेक फायदें है। लेकिन इसके कुछ नुकसान भी है। केनोला आयल का प्रयोग करने से पहले इन नुकसानों के बारे में अच्छे से जान ले। आइए जानते है केनोला आयल के क्या नुकसान है :

  • केनोला आयल जेनेटिकली मॉडिफाइड होता है।
  • केनोला आयल में विटामिन इ के गामा टोकेफेरोल होते है। यह तत्व शरीर में लंग्स की शमता को कम करने के लिए जाने जाते है।
  • केनोला आयल में हेक्सेन और ट्रांस फैट भी शामिल होता है। यह दोनों तत्व लिवर और दिल की बिमारियों को बढ़ा सकते है।
  • केनोला आयल में रेपसीड तत्व मौजूद  होता है। रेपसीड एक विषाक्‍त तत्‍व है।
  • इरुसिक एसिड और ग्‍लूकोसिनोलेट नामक तत्व नार्मल ग्रोथ में बाधा बनते है।  यह दोनों तत्व केनोला आयल में शामिल होते है।
  • केनोला आयल की वजह से कभी कभी चिड़चिड़ापन, कब्ज़, सांसों का रोग जैसी मुश्किलें भी होती है। इसीलिए इसका प्रयोग सिमित मात्रा में ही करना चाहिए।

About the author

Surbhi

मेरा नाम सुरभि है और ब्लोगिंग मेरा पेशन है. में अपने ब्लॉग पर आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खों के बारे में बताती हु. आप सभी जानते है की आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खे हमारे लिए कितना फायदेमंद है और इनका किसी तरह का साइड इफ़ेक्ट नहीं है. इसलिए में अपने ब्लॉग पर आपको आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खों के बारे में बताउंगी ताकि आप इन्हें अच्छे से जान सके और बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के खुद में बदलाव ला सके.

Leave a Comment