Ayurveda Treatments

ब्राह्मी वटी के फायदे | Brahmi Uses and Benefits in Hindi |

brahmi-vati-ke-fayde-hindi
Written by Surbhi

आयुर्वेद हर बीमारी या समस्या का इलाज़ बताने में सक्षम है। ऐसे कई गंभीर बीमारियां है जो आयुर्वेदिक दवाई या औषिधि सही कर सकती है। इनमे से एक ऐसी औषिधि है ब्राह्मी बूटी। इसको कई लोग ब्रेन बूस्टर के नाम से भी बुलाते है। यह आयुर्वेदिक औषिधि गीली मिटटी में उगती है। कई बार आप इसमें सफ़ेद रंग के छोटे-छोटे फूल  पाएंगे। इन फूलों में बस पांच पंखुरियाँ होती है। फूलों के साथ ही यह एक असरदार और काम की औषिधि है। इसका  सबसे बड़ा फायदा यह है की यह यादाश बढ़ाने में मदद करता है। यह दिमाग की शार्ट टर्म मेमोरी और लॉन्ग टर्म मेमोरी को भी बढ़ाता है। इसीलिए इस औषिधि को ब्रेन बूस्टर कहते है।

ब्राह्मी आपके शरीर को ठंडक पहुँचाती है। इसका सबसे बड़ा कारण यह है की इसकी तासीर ठंडी होती है।  आप ब्राह्मी बूटी दिन में तीन बार खा सकते है। सुबह-सुबह, दिन में और रात के खाने के बाद आप ब्राह्मी बूटी ले सकते है। आइए जानते है

ब्राह्मी वटी के फायदें | Benefits of Brahmi Vati in Hindi

तनाव को दूर करता है

शरीर में कोर्टिसोल की मात्रा बढ़ जाने पर आपको स्ट्रेस ज्यादा होता है। यह है एक स्ट्रेस हार्मोन है इसीलिए इसका स्तर हमेशा कम होना चाहिए। ब्राह्मी बूटी इस  हार्मोन के स्तर को कम करने में मदद करता है। यह बूटी तनाव और उसके होने वाले दुष परिणामों से भी बचाता है।

अल्ज़ाइमर्स से बचाता है

ब्राह्मी बूटी उन लोगों के लिए बहुत फायदेमंद है जिनको अल्ज़ाइमर्स है। ब्राह्मी बूटी का एमिलॉइड योगिक अल्ज़ाइमर्स के लिए बहुत फायदेमंद होता है। अल्ज़ाइमर्स से होने वाले नुकसान भी यह बूटी बचाती है।

कैंसर से लड़ने में मदद करता है

ब्राह्मी बूटी में बहुत सारे एंटीऑक्सिडेंट्स है। यह सारे एंटीऑक्सिडेंट्स स्वस्थ जीवन के लिए जरूरी होते है। यह बूटी कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से छुटकारा पाने में भी मदद करता है। जिन तत्वों की वजह से यह बीमारी होती है उन तत्वों को यह बूटी जड़ से ख़तम करदेती है।

पाचन को सही रखती है

स्वस्थ जीवन के लिए शरीर की पाचन शक्ति सही होनी चाहिए। पाचन शक्ति सही रखने के लिए लोग कई उपाय करते है। ब्राह्मी बूटी भी पाचन शक्ति सही रखता है। पाचन में होने वाली साड़ी समस्ययाओं को यह बूटी दूर करती है। इसी कारण से आपकी पाचन शक्ति मजबूत हो जाती है।

अर्थराइटिस और गैस्ट्रिक प्रोब्लेम्स से छुटकारा

ब्राह्मी बूटी का सेवन अर्थराइटिस पीड़ित लोगों को बहुत आराम पहुंचाता है। ब्राह्मी बूटी का सेवन उनके लिए फायदेमंद रहता है। इसके अलावा यह आपको गैस्ट्रिक प्रोब्लेम्स जैसे की गैस्ट्रिक अल्सर, बाउल सिंड्रोम आदि से बचाता है।

ब्लड शुगर लेवल का कण्ट्रोल

ब्राह्मी बूटी आपके शरीर में ब्लड शुगर लेवल को कण्ट्रोल में मदद करता है। ब्लड शुगर लेवल को सही तरीके से रेगुलेट करने के लिए ब्राह्मी बूटी का सेवन जरूर करना चाहिए।

बालों के लिए फायदें

स्वास्थय के साथ साथ ब्राह्मी बूटी बालों के लिए बहुत फायदेमंद होती है। ये बालों में खुजली या डैंड्रफ जैसी समस्याओं को हल करने में मदद करती है।इसमें मौजूद   एंटीऑक्सिडेंट्स शरीर में से सारे  टॉक्सिन्स को बाहर निकाल देती है।

मेमोरी को बढ़ाता है

ब्राह्मी बूटी का सबसे फायदा है की यह दिमाग की एकाग्रता, स्मृति, और यादाश्त को बढ़ाता है। इस बूटी का लम्बे समय तक सेवन बूढ़े लोगों में भी स्मृति की हानि को रोकता है। साथ ही साथ उनका दिमाग तेज़ करने में भी मदद करता है। इस के लिए आप ब्राह्मी बूटी का पाउडर दूध में मिलाकर भी पी सकते है।

इम्यून सिस्टम को बढ़ाता है

ब्राह्मी बूटी का सेवन प्रतिरक्षा प्रणाली को भी मजबूत करने में मदद करता है। ब्राह्मी बूटी के एंटीऑक्सिडेंट्स और पोषक तत्व इंसान के इम्यून सिस्टम को स्ट्रांग करके उन्हें कई बीमारियों से बचाती है। इम्यून सिस्टम स्ट्रांग करने के लिए आप ब्राह्मी बूटी का सेवन चाय में या किसी और रूप में कर सकते है।

कार्यक्षमता को बढ़ाता है

दिन भर लगातार काम करने से दिमाग थक जाता है। इसकी वजह से कार्यक्षमता भी कम हो जाती है। ब्राह्मी बूटी का सेवन सबसे ज्यादा दिमाग पर असर करता है। इसीलिए इसको खाने से दिमा ठंडा होता है और उसे शांति मिलती है। इसीलिए जब भी आपको अपनी कार्यक्षमता बढ़ानी होती है तब आप ब्राह्मी बूटी का सेवन कर सकते है। ऐसा करना आपके लिए जरूर फायदेमंद रहेगा।

ब्राह्मी वटी को कैसे इस्तेमाल करें ? | How to Use Brahmi Vati in Hindi

ब्राह्मी बूटी के फायदें पाने के लिए आप ब्राह्मी बूटी को कई तरीकों से प्रयोग में ला सकते है। जैसे की :

  • ब्राह्मी बूटी से बनाया हुआ तेल आपकी त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद होता है। दिमाग को तेज़ बनाने के लिए आप इस तेल की मालिश अपने सर पर भी कर  सकते है।
  • तेल के साथ आप रही बूटी का पेस्ट बनाके भी त्वचा पर लगा सकते है। यह त्वचा को स्वस्थ रखने में मदद करता है।
  • ब्राह्मी बूटी टेबलेट के रूप में भी मिलती है। इस बूटी के फायदें पाने के लिए आप टेबलेट भी खा सकते है।
  • ब्राह्मी बूटी का पाउडर भू उपलब्ध होता है। आप इस बूटी के इस रूप का भी प्रयोग कर सकते है। 

About the author

Surbhi

मेरा नाम सुरभि है और ब्लोगिंग मेरा पेशन है. में अपने ब्लॉग पर आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खों के बारे में बताती हु. आप सभी जानते है की आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खे हमारे लिए कितना फायदेमंद है और इनका किसी तरह का साइड इफ़ेक्ट नहीं है. इसलिए में अपने ब्लॉग पर आपको आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खों के बारे में बताउंगी ताकि आप इन्हें अच्छे से जान सके और बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के खुद में बदलाव ला सके.

Leave a Comment