Children Health Health and Diseases

6 महीने से से 14 साल तक के बच्चों के दांतों का किस तरह से रखें ख्याल?

childrens-oral-teeth-care-in-hindi
Written by Amisha Bharti

हमारे शरीर में दांत बहुत महत्वपूर्ण चीज है और अगर आप दांतों का अच्छे से ख्याल रखेंगे तो यह जिंदगी भर आपका साथ देंगे। दांतों का स्वस्थ होना बहुत जरुरी है और इसकी देखभाल बचपन से करना जरुरी है ताकि आगे चलकर कोई दिक्कत ना आये

इसके लिए जरुरी है की बच्चों को बचपन से ही दांतों की देखभाल करना सिखाएं ताकि आगे जाकर उनके किसी गंभीर बीमारी या पीड़ा को ना झेलना पड़े।बच्चों में 3 महीने के बाद दांत निकलना शुरू हो जाते है और 6 साल तक के होते-होते उनके 20 दांत आ जाते है।

कुछ बच्चों में दांत जल्दी आते है और कुछ में देर से और ऐसा हार्मोनल बदलाव के कारण होता है। इसके साथ ही बहुत से बच्चों के बचपन से ही दांत खराब होने लग जाते है। ऐसे में बच्चों के दांतों की देखभाल करना बहुत जरुरी है।आईये जानते है,

6 महीने से 14 साल तक के बच्चों के दांतों का कैसे ख्याल रखें?

1. बच्चे के पैदा होने के बाद यानी नवजात बच्चों में

जब बच्चे के दांत नहीं निकलते है तो उनके मसुडो की समय-समय पर सफाई करते रहे। इसके लिए किसी साफ़ कपडे का इस्तेमाल करें। सोते समय बच्चे को दूध की बोतल की जगह पानी की बोतल दे क्योंकि दूध में शक्कर होने से प्लाक की सम्भावना बढ़ने लगती है जो की बाद में नुकसानदायक हो सकती है।

2. बच्चे के पहला दांत निकलने के बाद

जब बच्चे के पहला दांत आ जाए तो आप उन्हें ब्रश करवा सकती है। लेकिन याद रहे इसके लिए सबसे मुलायम ब्रश का इस्तेमाल करें क्योंकि बच्चे के एक ही दांत आया है ऐसे में पूरी सावधानी रखना बहुत जरुरी है।

3. जब बच्चे के 5-6 दांत निकल जाए

इस बात का विशेष ध्यान रहे की जब बच्चा ब्रश करें तो आपकी निगरानी में ही करें। बच्चे को खेल-खेल मेर ब्रश कराएँ। आप ब्रश करवाते समय गाना भी गुनगुना सकती है। ध्यान रहे बच्चे को खुद को अकेले ब्रश ना करने दे।

4. जब बच्चा स्कूल जाने लगे

जब बच्चा स्कूल जाने लगता है तो ऐसे में वो चोकलेट और कैंडी के सम्पर्क में ज्यादा रहने लगता है क्योंकि बच्चों को मनाने का एक ही तरिका है चोकलेट। बच्चों को चोकलेट से दूर रखना नामुमकीन है लेकिन कोशिश करें की आपका बच्चा कम से कम मीठा खाएं।

बच्चे को लंच में स्वस्थ आहार दे, जिससे भूख लगने पर वो उलटी चीजे ना खाएं। बच्चे को स्नेक्स भी कम दे क्योंकि यह भी दांतों को चोकलेट जितना नुकसान पहुंचाते है। बच्चो की हर जिद चोकलेट देकर पूरी ना करें बल्कि उन्हें कुछ और पौष्टिक दे।

5. दांतों को लेकर बच्चों में अच्छी आदते डालें

  • जब आपका बच्चा स्कूल जाने लगे तो उन्हें समझाएं की मीठा खाने के बाद पानी जरुर पीएं।
  • सुबह उठते ही फ्रेश होने के बाद पहले ब्रश करवाएं।
  • साल में एक बार डेंटिस्ट से जरुर मिले।
  • बच्चों को दिन में दो बार ब्रश करवाएं।

इन बातों का ख़ास ध्यान रखें | Things to Know for Your Child

  • जब बच्चा दूध पी ले तो बच्चे के मुहं से दूध की बोतल निकाल ले। अगर सोते वक्त बच्चे के मुहं में दूध की बोतल लगी रह गई तो इससे दांतों में सड़न आ सकती है।
  • दूध पिलाने के बाद बच्चों के मसुडो को साफ़ कपडे से अच्छी तरह से साफ़ कर दे। जिससे वहां चिपचिपा नहीं रहेगा और प्लाक का खतरा भी नहीं रहेगा।
  • बच्चों के ब्रश पर किसी तरह का टूथपेस्ट ना लगायें क्योंकि बच्चा इसे खा लेता है जो की स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक है।
  • बच्चे को दिन में दो बार सुबह और शाम को ब्रश करवाएं।
  • बच्चे को अधिक शुगरयुक्त आहार बिलकुल ना दे। बच्चों को ऐसे फल ना खिलाएं जो उनके दांतों में फंस सकते है।
  • अपने फर्श को अच्छे से साफ़ रखें क्योंकि बच्चों की आदत होती है वे खेलते वक्त कुछ खा लेते है जिससे उन्हें नुकसान पहुँच सकता है।इसके अलावा साफ़-सफाई ना होने से फर्श के कीटाणु भी बच्चे को नुकसान पहुंचा सकते है।
  • जब आपका बच्चा 3 साल का हो जाए तो उस फ्लोराइड का टूथब्रश इस्तेमाल करने के लिए दे।लेकिन इस दौरान आप साथ रहे और इस बात का ख़ास ध्यान रखें की ब्रश के बाद बच्चा ठुक दे उस निगले नहीं अन्यथा नुकसान हो सकता है।

अगर आप शुरुआत में ही बच्चों के दांतों का ख्याल रखना शुरू कर देगी तो बाद में बच्चे खुद इन आदतों को अपना लेंगे और खुद ही अपने दांतों का ध्यान रखेंगे।शुरुआत में दी गई अच्छी आदते ही आगे चलकर बच्चों के काम आती है।

आपने आज की इस पोस्ट में 6 महीने से लेकर 14 साल तक के बच्चों के दांतों की देखभाल के बारे में जाना है। उम्मीद करता हु की आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी और अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और कमेंट बॉक्स में अपने विचार दे ताकि हम आगे भी ऐसी अच्छी से अच्छी पोस्ट आपके बीच ला सके

About the author

Amisha Bharti

मैं अमीषा पेशन से एक हेल्थ ब्लॉगर हु. मैं अपने ब्लॉग में लोगों को बीमारियों से मुक्ति दिलाने के तरीकों के बारे में बताती हूँ. आप मेरे ब्लॉग से हेल्थ से संबधित सभी तरह की जानकारी पा सकते है.

Leave a Comment