Dating Relationship

ये जानकर क्या रह पाएंगे आप ओपन रिलेशनशिप में?

hat-is-open-relationship-in-hindi
Written by Shaina Dhamija

आज के समय में लोगों ने अपनी जरूरतों के हिसाब से रिश्तों को अलग-अलग रूप में बाँट दिया है किसी ने अट्रेक्शन का नाम दिया तो, किसी ने सच्चा प्यार, किसी ने लिव इन में रहना पसंद किया तो किसी ने शादी के बंधन में बंधना पसंद किया। ऐसे में बदलते दौर में कई तरह के रिश्ते सामने आये है।

ऐसा ही एक रिश्ता है ओपन रिलेशनशिप। आज के समय में ओपन रिलेशनशिप एक ट्रेंड सा बन गया है। ओपन रिलेशनशिप का मतलब है की आप एक व्यक्ति के साथ रिलेशनशिप में होते हुए भी दुसरे व्यक्ति के साथ संबध बना सकते है। नाम से ही जाहिर है ओपन रिलेशनशिप मतलब खुल रिश्ता जिसमे किसी तरह का कोई बंधन नहीं हो।

लेकिन क्या आप अपने पार्टनर को किसी और के साथ शेयर होने दे सकते है? क्या जलन या ईष्र्या का भाव रिश्ते में नहीं आएगा? वैसा अगर देखा जाए तो यह काफी आसान और रोमांचित करने वाला है लेकिन सच में यह बहुत मुश्किल है। आज के समय में हर कोई ओपन रिलेशनशिप के फायदे बताने में लगा है क्योंकि उन्हें इस तरह के रिश्ते से आजादी मिल जाती है जबकि इसके नुक्सांके बारे में कोई चर्चा नहीं कर रहा। आईये जानते है ओपन रिलेशनशिप के बारे में विस्तार से।

ओपन रिलेशनशिप क्या है? | What is Open Relationship in Hindi?

ओपन रिलेशनशिप का सीधा सा अर्थ है अपने साथी की जानकरी से या उसकी अनुमति के बिना अन्य लोगों के साथ संबध बनाना। इसमें सिर्फ सेक्सुअल रिलेशनशिप होता है। एक व्यक्ति के साथ बोर होने के बाद कुछ नया ट्राई करने के लिए इस तरह रिश्ते पनपते है। लेकिन इस तरह का रिश्ता मानसिक और शारीरिक दोनों दुःख देता है। आईये जानते है ओपन रिलेशनशिप में रहने के नुकसान के बारे में।

ओपन रिलेशनशिप में रहने के नुकसान

1। बुरा महसूस होता है

जब आप किसी एक व्यक्ति के साथ रिलेशनशिप में हो और उसके साथ रहते हुए भी आप कुछ नया ट्राई करने के चक्कर में किसी और के साथ संबध बनाते है तो एक वक्त बाद आपको ही बुरा लगता है। आपको गिल्ट की भावना आने लगती है क्योंकि आप खुद को कहीं भी वफादार नहीं पाते।

2। टाइम मैनेजमेंट मुश्किल है

जब आप एक साथी के होते हुए दुसरे व्यक्ति के साथ रिलेशनशिप में रहते है तो ऐसे में समय मैनेज कर पाना मुश्किल हो जाता है। अगर मुख्य पार्टनर को टाइम नहीं दिया तो वह नाराज हो जायेगा और दुसरे पार्टनर को समय नहीं दिया तो वह भी दूर हो जायेगा। ऐसे में रिश्ते में तकरार आना संभव है। दोनों पार्टनर के साथ समय बिताना बहुत मुश्किल काम है। कहीं ऐसा ना हो आप एक साथ दोनों को ही खो दो।

3। जलन और असुरक्षा की भावना

भले ही ओपन रिलेशनशिप के बारे में आप दोनों पार्टनर को सब पता हो लेकिन जब आपका पार्टनर आपसे अलग किसी और के साथ भी डेट कर रहा है तो जलन होना स्वभाविक है। कोई भी अपने पार्टनर को किसी के साथ शेयर करना पसंद नहीं करता। ऐसे में जलन और असुरक्षा की भावना आना तय है और यह सब नेचुरल है, इस पर आप रोक नही लगा सकते। धीरे-धीरे यह जलन बढ़ने लगती है और एक वक्त बाद इसका अंजाम बुरा ही होता है।

4। ब्रेकअप होना तय है

ओपन रिलेशनशिप में रहने का अंजाम ब्रेकअप ही है। ओपन रिलेशनशिप में आप अपने पार्टनर पर उतना हक नहीं जता सकते जितना एक सच्चे और वास्तविक रिलेशनशिप में होता है। अगर आपके पार्टनर को आपसे कोई बेहतर मिल गया तो वह आपसे ब्रेकअप करने में टाइम नहीं लगाएगा। ओपन रिलेशनशिप में ब्रेकअप स्वभाविक है।

5। मानसिक सोच को विकृत करना

ओपन रिलेशनशिप में जब व्यक्ति अपनी मर्जी का मालिक होता है और उस पर कोई रोक नहीं होती तो वह जब चाहे जिससे रिलेशन बना सकता है। जाहिर सी बात है वफ़ादारी होगी नहीं तो व्यक्ति सेक्सुअल रिलेशनशिप की और ही ध्यान देगा। इससे उसमे हवस जागृत होगी और मानसिक तौर पर वह खुद को बर्बाद करने लगेगा और एक वक्त बाद खुद उस गलती का अहसास होगा।

About the author

Shaina Dhamija

मेरा नाम शाइना है और में एक रिलेशनशिप ब्लॉगर हूँ. आज कल व्यस्त लाइफ, खराब जीवनशैली और भरोसे की कमी के चलते रिश्तों मैं तकरार आने लगी है. में लोगों के साथ रिलेशनशिप से जुडी जानकारी शेयर करना पसंद है ताकि लोग रिश्तों की अहमियत को समझ सके.

Leave a Comment