Dating Relationship

फ्रेंड्स विथ बेनिफिट्स- Friends with Benefits in Hindi

फ्रेंड्स विथ बेनिफिट्स- Friends with Benefits in Hindi
Written by Shaina Dhamija

फ्रेंड्स विथ बेनिफिट्स के बारे में आप सब जानते होंगे। आपने अपने आसपास इस तरह के रिश्ते को महसूस किया होगा फ्रेंड्स विथ बेनिफिट्स का मतलब होता है बिना पाबंदी के रिश्तों का आनंद लेना। इसमें दिल्लगी होती है, घूमना-फिरना होता है, आनंद होता है, शेयरिंग होती है लेकिन कोई भी जिम्मेदारी या पाबन्दी नहीं होती।

फ्रेंड्स विथ बेनिफिट्स का रिश्ता सिर्फ शारीरिक सुख तक ही टिका होता है। इसमें ना कोई कमिटमेंट होता है, ना कोई वादे-कसमें बस आजादी होती है। साथ रहो। घुमो-फिरो, मजे करो, सेक्सुअल संबध बनाओ और खुश रहो। इस तरह के रिश्ते में कोई पाबंदी नहीं होती। फ्रेंड्स विथ बेनिफिट्स नए जमाने की देन है जो आजकल बहुत तुल पकड़ रहा है।

किसी ने फ्रेंड्स विथ बेनिफिट्स के बारे में सच ही कहा है “यह मतलब की दोस्ती है, सिर्फ जिस्मों से खेलती है”।इसमें ना कोई साथ, ना कोई जिम्मेदारी, ना कोई प्रतिबधता, ना कोई वचन, ना कोई पाबंदी कुछ नहीं होता है। आईये जानते है फ्रेंड्स विथ बेनिफिट्स के बारे में विस्तार से।

‘फ्रेंड्स विथ बेनिफिट्स’ का मतलब क्या है?
What is the meaning of ‘Friends with Benefits’ in Hindi?

फ्रेंड्स विथ बेनिफिट्स का मतलब है की आप चाहे किसी रिश्ते में हो या ना हो लेकिन किसी भी इंसान के साथ समय बिताने और शारीरिक संबध बनाने के लिए आजाद है। इसमें किसी तरह का कोई कमिटमेंट नहीं होता है। यह रिश्ता दोनों की सहमती से बनता है और दोनों ही इस रिश्ते का आनदं लेते है। यह रिश्ता यह मानसिक और शारीरिक दोनों तरह की आजादी देता है।

फ्रेंड्स विथ बेनिफिट्स की कुछ ख़ास बातें– What you Should Know About FWB in Hindi?

1। कोई दबाव नहीं

यह रिश्ता आजकल की लाइफस्टाइल पर पूरा जचता है। फ्रेंड्स विथ बेनिफिट्स में दो लोग बिना किसी शर्त या कमिटमेंट के रिश्ता निभाते है। इसे “बिना शर्त वाला” रिश्ता कह सकते है। इसमें दोनों पर एक-दुसरे का साथ निभाने का कोई दबाव नहीं होता है। आप जब चाहे तब अलग हो सकते है।

2। कोई नियम-कानून नहीं

फ्रेंड्स विथ बेनिफिट्स में किसी तरह का कोई नियम कानून नहीं है। इसमें दोनों को आनंद मिलता है इसलिए दोनों साथ रहते है। दोनों को शारीरिक सुख चाहिए होता है इसलिए दोनों साथ रहते है। इसमें आप अपने मन के राजा होते है और कोई भी बात बेहिचक कह सकते है। आप पर कोई दबाव नहीं होता और ना ही इस तरह के रिश्ते का कोई नियम या कानून है।

3। सेक्सुअल संबध बनाने की आजादी

यह रिश्ता भले ही आजादी के लिए बना है लेकिन इस रिश्ते की सबसे ख़ास बात सेक्सुअल संबध बनाने की आजादी ही है। इसमें दो लोग आपस में अपनी मर्जी से सेक्सुअल संबध बनाने के लिए आजाद होते है और दोनों की इसमें सहमती होती है।फ्रेंड्स विथ बेनिफिट्स खासकर बना ही इसलिए है।

4। दुरी या अकेलेपन से आजादी मिलती है

बहुत से लोग जिंदगी से परेशान होते है, उन्हें अकेलापन सताता है या उनके साथ पहले धोखा हो रखा होता है ऐसे लोग फ्रेंड्स विथ बेनिफिट्स को ज्यादा पसंद करते है। इसमें ना कोई टेंशन होती है, ना धोखे का डर, ना कोई दुरी और ना ही कोई अकेलापन। साथ रहो, घुमो-फिरो, मजे करो, शारीरिक संबध बनाओ। एक तरह से यह रिश्ता गर्लफ्रेंड-बॉयफ्रेंड की तरह ही होता है लेकिन इसमें उस रिश्ते की तरह रोक-टोक नहीं होती। आप आजाद होते हो अपनी जिंदगी जीने के लिए।

फ्रेंड्स विथ बेनिफिट्स को लेकर यह सावधानी जरुर बरतें– Precautions to Take When you’re Friends With Benefits in Hindi

1। सेक्सुअल रिलेशनशिप के दौरान प्रोटेक्शन का प्रयोग जरुर करें

इस तरह के रिश्ते में थोड़ा सा सावधान रहने की जरूरत है, खासकर महिलाओं को। इस तरह के रिश्ते में ज्यादा उत्साह में प्रेगनेंसी और यौन संबधी बीमारियों का डर रह सकता है। पुरुषों को भी इसमें सावधानी बरतनी चाहिए। अगर आप सेक्सुअल संबध बनाते है तो कंडोम का प्रयोग जरुर करें। याद रखें आप कुछ समय के लिए साथ है ऐसे में कोई ऐसा कदम ना उठायें जो आपके लिए बाद में मुसीबत खड़ी कर दे। कुछ भी हो दोनों अपनी सेहत से खिलवाड़ ना करें।

2। इमोशन को कण्ट्रोल करें

फ्रेंड्स विथ बेनिफिट्स में अक्सर फिजिकल होने के बाद इमोशन में आकर हम अपने दिल की बता शेयर कर जाते है। लेकिन इस तरह के रिश्ते में इमोशन को कण्ट्रोल करना बहुत जरुरी है। वरना बाद में आपके लिए यह मुसीबत खड़ी कर सकता है। आप दोनों में से एक में इमोशन आ गया और एक सिर्फ़ एन्जॉय के लिए है तो बाद में आपको ज्यादा तकलीफ हो सकती है। फ्रेंड्स विथ बेनिफिट्स के लिए पार्टनर भी ऐसा चुने जो मेंटली स्ट्रोंग हो।

3। इसे सिर्फ खुद तक सिमित रखें

इस तरह के रिश्ते को खुद तक सिमित रखें। इस रिश्ते के बारे में दोस्तों या परिवार वालों को ना बताएं अन्यथा यह आपके व्यक्तित्व और भविष्य के रिश्तों के लिए अच्छा नहीं है। आपके लिए अच्छा यही होगा की मजे के लिए बनाये गये रिश्ते को खुद तक ही सिमित रखें और इस रिश्ते का आनंद ले।

About the author

Shaina Dhamija

मेरा नाम शाइना है और में एक रिलेशनशिप ब्लॉगर हूँ. आज कल व्यस्त लाइफ, खराब जीवनशैली और भरोसे की कमी के चलते रिश्तों मैं तकरार आने लगी है. में लोगों के साथ रिलेशनशिप से जुडी जानकारी शेयर करना पसंद है ताकि लोग रिश्तों की अहमियत को समझ सके.

Leave a Comment