Gharelu Nuskhe Treatments

इंसुलिन घटाने के घरेलु तरीके क्या है?

home-remedies-to-decrease-insulin
Written by Surbhi

इंसुलिन हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण हार्मोन है. वैसे तो इस हार्मोन के शरीर में कई कार्य है लेकिन इसका मुख्य कार्य यह है की यह हमारे शरीर में कोशिकाओं (सेल्स) को इस तरह तैयार करता है की वे हमारे खून से शुगर ले और उन्हें एनर्जी में बदल सके. जो व्यक्ति स्वस्थ होते है उनका शरीर पर्याप्त मात्रा में इंसुलिन हार्मोन बनाता है.

जबकि जो लोग डायबिटीज का शिकार होते है उनका शरीर या तो बहुत ज्यादा इंसुलिन बनाता है या बहुत कम. जिसे हमारी भाषा में कहते है शुगर अप और शुगर डाउन. अगर व्यक्ति के शरीर में जरूरत से ज्यादा इंसुलिन हार्मोन बनता है तो यह बहुत खतरनाक है जिसे डायबिटीज टाइप-2 कहते है. इसमें व्यक्ति हाई ब्लड प्रेशर, फैटी लीवर, ओवरयिन सिंड्रोम आदि गंभीर बीमारियों का शिकार हो जाता है.

इसके अलावा व्यक्ति के अंगों तक खून पहुंचाने वाली धमनियां सख्त हो सकती हैं, जिसके कारण उसे हार्ट अटैक का खतरा भी बढ़ जाता है. आज हम आपको शरीर में इंसुलिन हार्मोन की मात्रा कम करने के कुछ प्राकृतिक उपायों के बारे में बताएँगे, जिन्हें अपनाने से आपका ब्लड शुगर कंट्रोल रहेगा और आप ऊपर बताए गए खतरों से खुद को बचाने का प्रयास कर सकते हैं.

इंसुलिन घटाने के 5 प्राकृतिक तरीके

1. सेब का सिरका 

सेब के सिरके के इस्तेमाल से आप शरीर में इंसुलिन हार्मोन को कण्ट्रोल कर सकते है. सेब के सिरके (एप्पल साइडर विनेगर) जिसे कई सारी बीमारियों में इस्तेमाल करते है और इसके बहुत से फायदे होते है. अगर आपके शरीर में बहुत ज्यादा इंसुलिन हार्मोन बन रहा है तो आपको रोजाना खाना खाने के 30 मिनट पहले एक गिलास पानी में 2 चम्मच सेब का सिरका मिलाकर पीना चाहिए. बहुत जल्द आपको इसका फायदा देखने को मिलेगा.

2. दालचीनी

दालचीनी के बहुत से फायदे है. आपको रोजाना के खाने में थोड़ी सी दालचीनी का प्रयोग करना चाहिए इससे आपके शरीर में इंसुलिन का लेवल सही रहेगा. दालचीनी शरीर में इंसुलिन की मात्रा को घटाती है. इसलिए आप जो भी खाएं, उसमें थोड़ा सा दालचीनी पाउडर छिड़क लें, तो आपके खाने का टेस्ट भी बढ़ जाएगा और आपका ब्लड शुगर भी अच्छा रहेगा.

3. फाइबर युक्त भोजन 

आपने अक्सर डॉक्टर, जिम ट्रेनर और डायटीशियन के मुहं से कहते सूना होगा की आपको फाइबर युक्त आहार लेना चाहिए क्योंकि यह आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा है. फाइबर का मतलब रेशेदार भोजन जो चिकने नहीं होते है बल्कि उनमे रेशे होते है. चिकनी चीजे आँतों में जाकर चिपक जाती है जो की शरीर के लिए नुकसानदायक है.

मगर जब आप फाइबर यानी रेशे वाली चीजें खाते हैं, तो ये आंतों में नहीं चिपकती हैं और पेट को इन्हें पचाने में काफी समय खर्च करना पड़ता है. इसलिए फाइबर वाले फूड्स धीरे-धीरे ब्लड शुगर बढ़ाते हैं. डायबिटीज के मरीजों के लिए फाइबर वाले फूड्स का सेवन ही एकमात्र प्राकृतिक तरीका है इंसुलिन हार्मोन को कण्ट्रोल में रखने का.

4. कम कार्बोहाइड्रेट वाली चीजों का सेवन करें 

अगर आपके शरीर में इंसुलिन हार्मोन ज्यादा बनता है, तो आपके लिए यही बेहतर होगा कि कार्बोहाइड्रेट युक्त डाईट ले. दरअसल कार्बोहाइड्रेट शरीर में ब्लड शुगर को बहुत तेजी से बढ़ाते हैं, जिससे शरीर में इंसुलिन की समस्या होती है.  इसलिए ऐसे लोगों को कम कार्बोहाइड्रेट वाले फूड्स खाने की सलाह दी जाती है.

5. बादाम का सेवन करें 

अमेरिका की एक पत्रिका में प्रकाशित हुए शोध में यह स्पष्ट रूप से बताया गया है की अपनी डाईट में बादाम को जगह दे. अगर आप नियमित रूप से बादाम खाते है तो आपके शरीर में इंसुलिन काफी हद तक कण्ट्रोल में रहता है. 16 सप्ताह से अधिक समय तक हुए अध्ययन में पाया गया कि बादाम खाने वाले व्यक्तियों का मधुमेह काफी नियंत्रित हुआ था.

About the author

Surbhi

मेरा नाम सुरभि है और ब्लोगिंग मेरा पेशन है. में अपने ब्लॉग पर आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खों के बारे में बताती हु. आप सभी जानते है की आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खे हमारे लिए कितना फायदेमंद है और इनका किसी तरह का साइड इफ़ेक्ट नहीं है. इसलिए में अपने ब्लॉग पर आपको आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खों के बारे में बताउंगी ताकि आप इन्हें अच्छे से जान सके और बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के खुद में बदलाव ला सके.

Leave a Comment