General Information Kaise Kare

ATM काम कैसे करता हैं? — ATM Kaam Kaise Karta Hai

ATM काम कैसे करता हैं?
Written by Kishan

अगर आपको भी नही पता की ATM कैसे काम करता है और जानना चाहते है इसका वोर्किंग, तो इस post को पूरा पढ़िए क्युकी इसमें मैंने detail में बताया की एटीएम कैसे काम करता है |

एटीएम क्या है?

ATM काम कैसे करता हैं?

ATM का full form होता हैं Automated Teller Machine | ये एक ऐसा मशीन हैं जो हमें हमारे खुद के पैसे को विथड्रॉल करने के लिए बैंक मे लम्बी लाइन मे लगने से रोकता हैं | नहीं तो पहले अपना पैसा निकालने के लिए बैंक मे लम्बी लाइन मे लगना पड़ता था | लेकिन इस मशीन के आने बाद सब कुछ बदल गया और पैसा निकालना आसान हो गया |

आपको जब भी किसी एटीएम मे जाते हैं पैसा निकलने, तो क्या कभी अपने ये सोचा है की ये काम कैसे करता है | दरअसल हम एटीएम जाते है और PIN डालकर पैसा निकाल लेते है, लेकिन मैं बता दू की एक छोटे से ट्रांसक्शन मे भी एटीएम मशीन बहुत बड़ा process करता है | तो आज हम इसी के बारे में जानने वाले है | हम सिर्फ एटीएम के बैकग्राउंड मे हो रहे प्रोसेस को देखेंगे, नाकि एटीएम के अंदर का प्रोसेस |

एटीएम के टाइप्स

पहले तो एटीएम सिर्फ कॅश निकलने के लिए होता था, लेकिन अब एटीएम अलग अलग प्रकार के आने लगे हैं | जैसे अगर आपको विदेश मे जायेगा तो आपको ऐसा एटीएम भी दिखेगा जिससे आपको Gold खरीद सकते हैं | कुछ अमाउंट का चेंज ले सकते हैं | कही कही तो ऐसा एटीएम भी है जो Currency कन्वर्टेड कर देता हैं | तो अब एटीएम बहुत एडवांस हो गए हैं |

एटीएम काम कैसे करता हैं?

ATM काम कैसे करता हैं?

वैसे समझने जाये तो काफी कॉम्प्लिकेटेड प्रोसेस होता हैं, लेकिन मैं आपको सिर्फ कुछ स्टेप्स मे बताता हु की एटीएम काम कैसे करता है | ये जो मैं एटीएम का वर्किंग बता रहा हु वो सिर्फ उन एटीएम का वर्किंग है जो विथड्रॉल के लिए इस्तेमाल होते हैं |

Also Read — SBI नेट बैंकिंग कैसे एक्टिवेट करें 

सो जब भी आपको पैसा निकालने के लिए PIN डालते है तो ATM तुरंत आपके बैंक को एक इलेक्ट्रॉनिक रिक्वेस्ट भेजता है | अगर आपको Rs 2000 निकलते हैँ तो ATM आपके बैंक को Rs 2000 का इलेक्ट्रॉनिक Request भेजता हैँ |

अगले स्टेप मे बैंक उस Request को प्रोसेस करता हैं और verify करता है की आपके account मे sufficient बैलेंस हैं या नहीं | अगर आपके एकाउंट मे sufficient बैलेंस नहीं रहेगा तो वो रिक्वेस्ट reject हो जायेगा और next स्टेप तक नहीं पहुंच पायेगा | लेकिन अगर आपके एकाउंट मे sufficient बैलेंस है तो रिक्वेस्ट next स्टेप मे फॉरवर्ड होगा |

इस स्टेप मे बैंक determine करता हैं की आपका विथड्रॉल रिक्वेस्ट आपके बैलेंस से कम है या नहीं | मतलब अगर आपको Rs 2000 का विथड्रॉल रिक्वेस्ट करते हैं तो आपके एकाउंट मे Rs 2K से ज्यादा पैसा होना चाहिए, तभी रिक्वेस्ट next स्टेप तक जायेगा |

इस स्टेप मे बैंक उस Rs 2000 के Request को अप्रूवल दे देता हैं और आपके बैंक एकाउंट से Rs 2000 कट कर देता हैं |

अब फाइनल स्टेप मे ATM आपके विथड्रॉल रिक्वेस्ट को dispense कर देता हैं | मतलब एटीएम आपका Rs 2000 dispense कर देता हैं |

तो एटीएम कुछ इसी प्रकार काम करता हैं | और ये सभी प्रोसेस कुछ सेकंड मे हो जाता हैं | तो उम्मीद है की अब आप समझ गए होंगे की एटीएम कैसे काम करता हैं | अगर इससे related आपको कोई भी डाउट हैं तो आपको कमेंट कर सकते हैं |

About the author

Kishan

मैं कृष्ण पेशे से एक हिंदी ब्लॉगर हूँ. आज के समय में जैसे-जैसे लोगों को ब्लॉग के बारे में पता चल रहा है, लोग भी अपने हुनर को लोगों तक पहुंचाना चाहते है. ऐसे में उन्हें जरूरत है सही गाइडलाइन. मेरे ब्लॉग से आप ब्लोगिंग से जुडी सारी जानकारी आसानी से पा सकते है. ब्लॉग कैसे बनाते है, पोस्ट कैसे करते है, पोस्ट को रैंक कैसे करते है आदि ब्लोगिंग से जुडी सभी चीजों के बारे में आप मेरे ब्लॉग से जानकारी पा सकते है.

Leave a Comment