Kaise Kare

कम समय में Exams की तैयारी कैसे करे?- Tips & Tricks

कम समय में Exams की तैयारी कैसे करे
Written by Kishan

कम टाइम में एक्जाम की तैयारी कैसे करें ?

हर साल होने वाले बोर्ड एग्जाम किसी हौव्वे से कम नही होते, इन एग्जाम के तनाव से केवल बच्चे ही नही परिजन भी गुजरते है, हो भी क्यों ना, आखिर दुनिया मे इतना कम्पटीशन जो बढ़ गया है।

मेरिट के आधार पर तय होते बड़े कॉलेज जो हर मेरिट की सीमा बढ़ा देते है, ऐसे एग्जाम में अच्छे मार्क्स लाने का प्रेशर और बढ़ जाता है।

कायदा तो यही है रोज़ एक निश्चित समय पर एक बेहतरीन दिनचर्या के साथ पढ़ाई की जाए तो कोई मुश्किल नही आती फिर भी कई बार बहुत से कारणों जैसे बीमारी, फंक्शन, आलस की वजह से एग्जाम की तैयारी नही हो पाती ऐसे में स्टूडेंट सोचता है कम समय मे ज्यादा से ज्यादा सिलेबस कैसे तैयार करे कि मार्क्स अच्छे आए।

एक तरफ जहा जुलाई से दिसम्बर तक वैसे ही काफी सिलेबस होता है, फिर दिसम्बर के खत्म होते ही इन स्टूडेंट्स के मन मे बोर्ड एग्जाम की तैयारी को लेकर भी मन में अजीब डर और घबराहट भी होने लगता है और फिर मुश्किल से 2 या ढाई महीने ही बोर्ड एग्जाम के लिए समय बचते है  जिनमे 10th और 12th के विद्यार्थियों को इन बोर्ड एग्जाम से गुजरना होता है और कही न कही इन बोर्ड परीक्षा का डर इन क्लास के विद्यार्थियों को जरुर होता है ऐसे में एक तरफ जहा जुलाई से दिसम्बर तक के महीने में सेलेबस के इतने मोटे मोटे किताबो का अद्ध्ध्यन करना होता है तो फिर दिसम्बर के खत्म खत्म होते ही इन विद्यार्थियों के मन Board Exam की तैयारी को लेकर भी मन में अजीब डर और घबराहट भी होने लगता है और फिर मुश्किल से 2 या ढाई महीने ही बोर्ड एग्जाम के लिए समय बचते है   लेकिन अगर आपको लगता है कि अब देर हो गई है तो बिल्कुल नही, अब भी अगर सही प्लानिग से सही तरीके से इन कम समय में बोर्ड एग्जाम की तैयारी किया जाय तो बोर्ड एग्जाम के दबाव को काफी हद तक कम भी किया जा सकता है

तो चलिए आज हम आपको बताते है Kam samay me exam ki tayari kaise kare, तो ये है कुछ टिप्स जिन्हें फॉलो करने पर आपको जरूर मदद मिलेगी।

Tips:-1 तनाव को दूर रखें

देखिए एक बात अच्छे से समझ ले कि अब देर तो हो ही गई है, तो बिना बात का तनाव लेने से कोई फायदा नहीं, तनाव लेने से ना तो एग्जाम अच्छे जाने वाले है ना मार्क्स अच्छे आने वाले है, अब तो आप बस इतना सोच कर चले कि जो भी समय बचा है उसमे अपना बेस्ट देना है, तनाव पालने से फायदे ली जगह नुकसान ही होगा।

आप ये सोचे कि ये नॉर्मल एग्जाम है जैसे आप अभी तक देते आए है, दरअसल ये तनाव और डर बोर्ड एग्जाम का नही होता, तैयारी ना हो पाने का होता है।

अगर पूरे साल पढ़ाई की जाए तो ऐसे छात्र परीक्षा से नही डरते।

तो ऐसे में अगर आप भी पूरे साल भी खूब मन लगाकर पढाई करते है तो आपको बोर्ड के एग्जाम का तनिक भी मन में डर नही रहता है

Tips:-2 सभी सब्जेक्ट्स पर नजर डाले

अब एग्जाम है तो ऐसा तो है नही की क्वेश्चन पेपर एक ही सब्जेक्ट से आएगा, इसलिए हाथ धोकर एक ही सब्जेक्ट के पीछे ना पड़े, क्योंकि एक सब्जेक्ट में तो 90 आ जाए और दूसरे में 40 तो इससे कोई फायदा नही.

 हर सब्जेक्ट का थोड़ा थोड़ा और इम्पोर्टेन्ट पोर्शन जरूर करें, ताकि सभी सब्जेक्ट में मार्क्स बराबर और अच्छे आए।

 Tips:-3 पुराने क्वेश्चन पेपर्स पर नजर डाले

एग्जाम की तैयारी करने का सबसे बेहतर तरीका यही है, क्योंकि बोर्ड एग्जाम आई सी एस सी, सी बी आई, या किसी भी बोर्ड के हो क्वेश्चन पेपर का एक निश्चित पैटर्न होता है।

अगर आप अच्छे से रिसर्च कर इम्पोर्टेन्ट टॉपिक्स, चैप्टर और क्वेश्चन पर ध्यान देंगे तो एग्जाम में उम्मीद से बेहतर करेंगे।

रिसर्च के लिए न बातो पर गौर करें, किस चैप्टर से क्वेश्चन जरूर शामिल किए गए हैं।

• सबसे ज़्यादा क्वेश्चन किस चैप्टर या टॉपिक पर बेस्ड है

• किस चैप्टर को किसी भी साल एग्जाम में खास तवज्जो नही मिली

इस रिसर्च के लिए साल्व्ड क्वेश्चन बैंक जो कि मार्किट से मिलते है आपकी बहुत मदद करेंगे, लेकिन हमेशा नया क्वेश्चन बैंक ले।

अगर आप के पास एग्जाम की तैयारी के लिए एक महीने का समय बचा है तो आप इस एनालिसिस में आधे से एक दिन का समय दे सकते है l अगर आपके पास एक दिन का समय है तो यह एनालिसिस आपको 10 से 15 मिनट में कर लेनी चाहिए

Tips:-4 अपनी प्रायोरिटी तय करें

आप सोच ले  की आप इस एक महीने में क्या चाहते है, सारा ध्यान एग्जाम पर लगाना चाहते या इधर उधर ध्यान भटकाना चाहते है, इसके लिए जरूरी है कि पढ़ते समय अपने आसपास वही चीज़े रखे जो आपको पढ़ने के लिए जरूरी हो,

फालतू किताबे, बैग, मैगज़ीन और हो सके तो मोबाइल को भी दूर रखें, आसपास ज्यादा सामान होने से केवल ध्यान भटकता है और मन मे उलझन पैदा होती है, एक टाइम टेबल बनाए और इसे बार बार चेंज ना करे।

अगर आपने किसी सब्जेक्ट को तैयार करने के लिए 1 घण्टे का समय दिया पर उसमे डेढ़ घण्टा लग जाए तो परेशान ना हो इतना मार्जिन पहले से ही टाइम टेबल में लेकर चले।

Tips:-5 आसान चीज़े पहले पहले पढ़े

अगर आप पहले ही मुश्किल चीज़े पढ़ने बैठ जाएंगे तो एक तो उसमें समय लगेगा, दूसरे आप अपना आत्मविश्वास खोने लगेंगे, जबकि इस स्थिति में भरपूर आत्मविश्वास की सख्त जरूरत होती है।

पहले कठिन चैप्टर पढ़कर उसमे फंसने से अच्छा है, ज्यादा मार्क्स में आने वाले आसान चैप्टर तैयार करे इससे आपका मन खुश होगा, कॉन्फिडेंस बढ़ेगा और आप दुगुनी लगन से पढ़ाई करने लगेगो

इसके अलावा कुछ बातों का और ध्यान रखे जैसे अगर पढ़ाई के बीच मे ब्रेक ले तो उसे लम्बा ना खींचे, मोबाइल या tv में लगने की बजाय थोड़ा वॉक करे, खेल खेले, दोस्तो से बात करे।

खुद को प्रोत्साहित करें, ग्रुप स्टडी करें, इन सब बातों को सही तरीके से फॉलो करेंगे तो सफलता जरूर मिलेगी। आप सबके एग्जाम के लिए बेस्ट ऑफ लक

About the author

Kishan

मैं कृष्ण पेशे से एक हिंदी ब्लॉगर हूँ. आज के समय में जैसे-जैसे लोगों को ब्लॉग के बारे में पता चल रहा है, लोग भी अपने हुनर को लोगों तक पहुंचाना चाहते है. ऐसे में उन्हें जरूरत है सही गाइडलाइन. मेरे ब्लॉग से आप ब्लोगिंग से जुडी सारी जानकारी आसानी से पा सकते है. ब्लॉग कैसे बनाते है, पोस्ट कैसे करते है, पोस्ट को रैंक कैसे करते है आदि ब्लोगिंग से जुडी सभी चीजों के बारे में आप मेरे ब्लॉग से जानकारी पा सकते है.

Leave a Comment