Gharelu Nuskhe Treatments

खांसी-जुकाम दूर करने के दादी माँ के 11 नुस्खे

khansi-jukhaam-ke-gharelu-upchar-kya-hai
Written by Surbhi

बदलते मौसम में खांसी-जुकाम और कफ होना आम बात है। मौसम के बदलने के साथ-साथ खांसी-जुकाम की समस्या भी बढती जाती है। खांसी के कई कारण हो सकते है जैसे साइनस, वायरम इन्फेक्शन, बैक्टीरिया आदि की वजह से। कई बार खांसी सामान्य रहती है और कई बार यह विकराल रूप ले लेती है और पुरे दिन भर व्यक्ति खांसता रहता है।

लेकिन हर बीमारी का इलाज डॉक्टर करें यह जरुरी भी तो नहीं और खांसी-जुकाम के लिए ज्यादातर लोग डॉक्टरों के पास जाते भी नहीं है। इसके लिए वे घर पर ही घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल करते है जिनसे खांसी-जुकाम से राहत मिल जाती है। उन्हें हम दादी माँ के नुस्खे कहते है और आज भी वे बेहद कारगार साबित होते है। आईये जानते है खांसी-जुकाम दूर करने के घरेलू उपायों के बारे में।

खांसी के दो प्रकार

खांसी दो प्रकार की होती है गीली खांसी (Wet Cough) है और सुखी खांसी (Dry Cough) कहते है। आईये जानते है इन दोनों के बारे में।

  • गीली खांसी (Wet Cough)
    जिस खांसी में खांसने के साथ बलगम निकलता है उसे गीली खांसी कहते है।
  • सुखी खांसी
    जिस खांसी में खांसने से बलगम नहीं आता है उसे सुखी खांसी कहते है।

खांसी-जुकाम दूर करने के घरेलू रामबाण उपाय
Home Remedies in Hindi for Cold and Cough

dadi-maa-ke-gharelu-nuskhe-khansi-ke-liye

1। निम्बू, शहद और इलायची

आधा चम्मच शहद में कुछ बुँदे निम्बू के रस की और एक चुटकी भर इलायची ले और इस सिरप का दिन में 2 बार सेवन करें। इससे आपको खांसी-जुकाम में बहुत राहत मिलेगी। शहद को खांसी-जुकाम के लिए वरदान माना जाता है और उसमे अगर निम्बू तथा इलायची मिल जाये तो सोने पर सुहागे जैसा है।

2। गर्म पानी पीयें

सर्दी-जुकाम और खांसी होने पर कभी भी ठंडा पानी ना पायें। इसकी जगह पर गुनगुना पानी पीयें, इससे गले में रुका हुआ कफ खुलेगा और आराम मिलेगा।

3। गर्म दूध, सोंठ और हल्दी

अगर आप कफ से बहुत परेशान है तो गर्म दूध में थोड़ी सोंठ और हल्दी पाउडर मिलाकर पीयें, इससे जमा हुआ कफ बाहर निकल जायेगा। सर्दियों में वैसे भी घर में दादी-नानी बच्चे की रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढाने के लिए हल्दी का दूध पिलाती है। हल्दी में कई ऐसे एंटी-ओक्सिडेंट गुण होते है जो बैक्टीरिया से हमारी सुरक्षा करते है। रात को सोने से पहले हल्दी का दूध पीने से यह तेजी से असर करता है।

4। गुनगुना पानी और नमक से गरारें

गुनगुने पानी में थोडा सा नमक डालकर गरारें करें। इससे गले का इन्फेक्शन ठीक होता है और खांसी-जुकाम से राहत मिलती है। इससे गले का बलगम जल्दी साफ़ होता है। यह सबसे ज्यादा प्रयोग किया जाने वाला तरीका है और इसकी सलाह खुद डॉक्टर भी देते है।

5। अदरक-मसाले वाली चाय

चाय के हम सब शौकीन है और पीते भी है लेकिन जब आप खांसी-जुकाम से पीड़ित हो तो अदरक, तुलसी, मसाला, काली मिर्च आदि की चाय बनाकर पीयें। इससे खांसी-जुकाम, कफ से जल्दी राहत मिलेगी।

6। आंवला

आंवला में भरी मात्रा में विटामीन C होता है जो खून के प्रवाह को बढाता है। आंवले में कई तरह के एंटी-ओक्सिडेंट गुण पाए जाते है जिसकी वजह से यह हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है और खांसी-जुकाम से राहत दिलाता है।

7। अदरक और नमक

अदरक को छोटे-छोटे टुकड़ों में कांटे और उसमे नमक मिलाकर इसे खा ले। इससे जल्द ही आपका गला खुल जायेगा और नमक से बैक्टीरिया खत्म हो जायेंगे। इसका स्वाद थोडा सा अजीब लगेगा लेकिन इससे फायदा बहुत जल्दी होगा।

8। काली मिर्च और घी

अगर खांसते वक्त खांसी के साथ बलगम आता है तो आधा चम्मच काली मिर्च को देसी घी के साथ मिलकर खाएं। इससे जल्दी ही आराम मिलेगा।

9। अनार और लहसुन

अनार के जूस के साथ कुछ बुँदे लहसुन का रस मिलकर पीने से खांसी में तुरंत राहत मिलती है। अनार और लहसुन दोनों में एंटी-ओक्सिडेंट और एंटी-बैक्टीरियल तत्व होते है जिससे यह खांसी-जुकाम में तुरंत राहत दिलाते है।

10। सरसों का तेल

सरसों के तेल को गुनगुना करके छाती, नाक के चारों तरफ और पैर के दोनों तलवों पर लगायें। इससे शरीर के अंदर गर्मी पैदा होती है और जमा कफ बाहर निकलता है।

11। इन चीजों के सेवन से बचें

खांसी-जुकाम होने पर तली हुयी चीजें, चिकनाई, मीठी चीजें, ठंडी चीजें, ठंडा पानी, ठंडी हवा, खटाई आदि चीजों से दूर रहना चाहिए अन्यथा इससे खांसी-जुकाम बढ़ सकता है।  

About the author

Surbhi

मेरा नाम सुरभि है और ब्लोगिंग मेरा पेशन है. में अपने ब्लॉग पर आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खों के बारे में बताती हु. आप सभी जानते है की आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खे हमारे लिए कितना फायदेमंद है और इनका किसी तरह का साइड इफ़ेक्ट नहीं है. इसलिए में अपने ब्लॉग पर आपको आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खों के बारे में बताउंगी ताकि आप इन्हें अच्छे से जान सके और बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के खुद में बदलाव ला सके.

Leave a Comment