Children Health Health and Diseases

जानिये बाल श्रम से जुड़े कानून और फैक्ट्स |Laws Related to Child Labour in Hindi (August 2019)

child-l;abour-se-jude-kanoon
Written by Surbhi

बचपन दुनिया का सबसे हसीन पल होता है जिसे हम खुलकर जीते है क्योंकि ना किसी चीज की चिंता होती है और ना ही कोई जिम्मेदारी होती है। हर समय हम अपनी मस्तियों में खोये रहते है और दुनिया से हमें कोई लेना देना नहीं होता है। आपने देखा होगा की बच्चे कैसे ख़ुशी से जीते है, खेलते-कूदते और पढ़ते है।

लेकिन हर किसी का बचपन ऐसा हो यह जरुरी नहीं।कई बार मज़बूरी, घर के हालात छोटी उम्र में ही बच्चों पर जिम्मेदारियां लाद देती है।आप भी बाल मजदूरी की समस्या से अच्छे से वाकिफ होंगे। 14 साल से कम उम्र के बच्चे अपनी जीविका के लिए अगर कोई काम करते है तो वे बाल मजदुर कहलाते है।

हर साल 12 जून को विश्व बाल श्रम निषेध दिवस मनाया जाता है। बच्चों में जागरूकता लाने के लिए और उन्हें ऐसे काम करने से रोकने के लिए हर साल कई तरह के कार्यक्रम चलाए जाते है। आज के समय में लगभग हर जगह बाल मजदुर देखने को मिल जायेंगे। होटल, कारखाने, रेस्टोरेंट, शादी-समारोह आदि हर जगह छोटे-छोटे बच्चे काम करते आपको दिख जायेंगे।

इनको रोकने वाला कोई नहीं है। घर की आर्थिक स्थिति और परिवार का दबाव इन्हें बाल मजदुर बनने को मजबूर कर देता है। आज के समय में भी हालात बहुत खराब है। आज की इस पोस्ट में हम आपको बताएँगे की बाल मजदूरी को लेकर भारत में क्या कानून है और इससे जुड़े फैक्ट्स क्या है।

बाल मजदूरी से जुड़े फैक्ट्स | Facts Related to Child Labour in Hindi

world-against-child-labour-in-hindi
  • BBC की एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में लगभग 7 से 8 करोड़ बच्चे अनिवार्य शिक्षा से वंचित है। इनमे से ज्यादातर बच्चे अपराध जगत में सक्रिय है और काफी बच्चे गरीबी की वजह से स्कूल नहीं जा पा रहे है।
  • 2011 की जनगणना के अनुसार भारत में 5 से 14 साल के लगभग 26 करोड़ बच्चों में से 1।1 करोड़ बच्चे बाल श्रम के शिकार है।
  • पुरे विश्व में लगभग 16 करोड़ बच्चे बल श्रम करने के लिए मजबूर है। इनमे से ज्यादातर बच्चे बहुत खराब हालत में काम कर रहे है।
  • दुनियाभर में सबसे ज्यादा बाल मजदुर भारत में ही है।
  • कई ऐसे NGO है जो इस दिशा में अच्छा काम कर रहे है और उनकी रिपोर्ट के अनुसार 50% बच्चे ऐसे है जो सप्ताह के सांतो दिन काम करते है।  53% बच्चे यौन उत्पीड़न का शिकार हो रहे है।
  • हर दुसरे बच्चे को भावनात्मक रूप से बाल श्रम के लिए प्रताड़ित किया जा रहा है।

भारत में बाल श्रम के लिए कानून | Laws in India for Child Labor in Hindi

  • भारत में बाल श्रम कानून 1986 के तहत 14 साल से कम बच्चों को किसी भी ऐसे धंधे में धकेलना अपराध है जिन्हें बच्चों के जीवन और स्वास्थ्य के लिए हानिकारक माना गया है।
  • फैक्ट्री कानून 1948 के तहत 14 साल से कम उम्र के बच्चों से काम करवाना अपराध है।
  • अनुच्छेद 23 के तहत बच्चों को तस्करी के काम और जबरदस्ती काम करवाना संघीन अपराध है।
  • अगर कोई व्यक्ति 14 साल से कम उम्र के बच्चे को काम के लिए नियुक्त करता है तो तो नियुक्त करने वाले व्यक्ति को 2 साल की जेल और 50 हजार का जुर्माना लगाया जायेगा। हालाँकि स्कूल के बाद के समय में अपने परिवार की मदद करने वाले बच्चे को इस कानून से बाहर रखा गया है।
  • नए कानून के तहत 14 से 18 साल के बच्चे को खानों, विस्फोटक या ज्वलनशील जैसे जोखिमों वाले कार्य में रोजगार देने पर सजा का प्रावधान है।यह नया कानून फिल्मों, विज्ञापन और टीवी जगह के बच्चों पर लागू नहीं होता है।
  • कानून के तहत कम उम्र में बच्चों से खतरनाक काम करवाने पर माँ-बाप पर भी केस दर्ज हो सकता है।

अपने बच्चों को काम ना करवाकर उन्हें अच्छे से पढाये-लिखायें और अगर घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है तो स्कूल के बाद के समय में उनसे उनके अनुरूप काम करवा सकते है। लेकिन कसी भी तरह का ऐसा काम ना करवाएं जिसके लिए बच्चे तैयार ना हो।

आपने आज की इस पोस्ट में बाल श्रम क्या है, इससे जुड़े फैक्ट्स और कानून के बारे में जाना है। उम्मीद करता हु की आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी और अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और कमेंट बॉक्स में अपने विचार दे ताकि हम आगे भी ऐसी अच्छी से अच्छी पोस्ट आपके बीच ला सके।

About the author

Surbhi

मेरा नाम सुरभि है और ब्लोगिंग मेरा पेशन है. में अपने ब्लॉग पर आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खों के बारे में बताती हु. आप सभी जानते है की आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खे हमारे लिए कितना फायदेमंद है और इनका किसी तरह का साइड इफ़ेक्ट नहीं है. इसलिए में अपने ब्लॉग पर आपको आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खों के बारे में बताउंगी ताकि आप इन्हें अच्छे से जान सके और बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के खुद में बदलाव ला सके.

Leave a Comment