Children Health Health and Diseases

Baby Care: शिशु को नहलाते वक्त न करे ये गलतियां

बच्चे-को-नहलाते-वक़्त-भूल-से-भी-न-करे-ये-गलती
Written by Surbhi

शिशु को नहलाते वक्त आपको कई बातों का ख्याल रखना पड़ेगा चाहे उनका प्रोडक्ट हो या पानी का तापमान सभी को लेकर सावधानी बरतना पड़ेगा। नवजात शिशु की त्वचा काफी नाजुक होती हैं। इसलिए उनका खास ख्याल रखने की जरूरत होती है। आपकी एक छोटी सी गलती आपके शिशु के लिए मुसीबत बन सकती हैं। उनसे जुड़ी हर चीज को लेकर सावधानी बरतने की जरूरत होती है। शिशु नहाने के दौरान काफी ज्यादा हिलते-डुलते हैं इसलिए अगर सावधानी ना बरती जाए, तो उनकी हड्डियों में मरोड़ आ सकता है। इसके अलावा, पानी से लेकर बेबी केयर प्रोडक्ट हर चीज का ख्याल रखना पड़ता है। जानिए कैसे

शिशु को नहलाते वक्त क्या न करे?

1. बार-बार ना नहलाये

शिशु को साफ सुथरा रखना बहुत अच्छी बात है, पर इसके लिए अपने शिशु को बार बार  नहलाने ग़लती ना करे। अक्सर देखा जाता है कि गर्मियो के मौसम में कई बार मां अपने शिशु को बार-बार नहला देती हैं जो कि सही नहीं है। इससे आपके शिशु की कोमल और चिकनी त्वचा को नुकसान पहुंच सकता है। शिशु को दिन में एक बार गुनगुने पानी से नहलाना काफी होता है।  रात में अपने शिशु को साफ रखने के लिए गीले कपड़े से शरीर को पोछ दें या बेबी वाइप्स का प्रयोग करे। और उनके कपड़ों को बदल दें।

2. बाजार के प्रोडक्ट से बचे

आजकल बाजार में विभिन्न प्रकार के प्रोडक्ट उपलब्ध हैं, जो आपके शिशु की कोमल त्वचा को नुकसान पहुंचा सकते हैं। आपको सभी प्रकार के प्रोडक्ट को अपने शिशु की त्वचा पर इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। अपने शिशु को साफ रखें, शरीर सुखने के बाद बॉडी पर सिर्फ बेबी मॉइश्चराइजर लगाएं। शिशु की कोमल और नाजुक त्वचा पर बहुत सारे प्रोडक्ट का उपयोग करने की गल्ती ना करे ये हानिकारक साबित हो सकता है। प्रोडक्ट के बारे में अच्छे से जांच, परख कर खरीदें।

3. नहाने के पानी का तापमान-

शिशु को नहलाने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि नहाने के पानी का तापमान ठीक है या नहीं।  नहाने का पानी बहुत गर्म या बहुत ठंडा बिल्कुल नहीं होना चाहिए। शिशु को ठंडे पानी से नहलाने से उसकी तबीयत खराब हो सकती है। वहीं ज्यादा गर्म पानी उनकी त्वचा को जला भी सकती है। आपको बता दें कि बच्चों की त्वचा बहुत ही कोमल होती है ऐसे में उनके स्किन पर पानी का असर तेजी से होता है।नहाने के लिए सही पानी का प्रयोग करें.

 4. सफाई पर भी विशेष ध्यान दे-

शिशु को ठीक से साफ करना बहुत जरूरी होता है। हालांकि शिशु को साफ करने के लिए उसे जोर जोर से रगड़ने की कोई जरूरत नहीं है। शिशु को हाइजीन बनाए रखने के लिए अतिरिक्त संवेदनशील अंगों को जरूर साफ करें।  पेशाब और मल त्याग के बाद अपने बच्चे के प्राइवेट पार्ट्स को अच्छी तरह से धोएं। अगर बच्चों के इन अंगों को ठीक से साफ नहीं रखेंगे तो इससे त्वचा पर दाने और संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है।

5. बच्चे के शरीर को अच्छी तरह से पोछे-

हमेशा अपने शिशु को नहलाने के बाद अच्छे से पोछे। गीला शरीर होने से शिशु असहज महसूस करते हैं और पूरा दिन चिड़चिड़े नजर आते हैं। गीला रहने से उन्हें ठंड भी लग सकती है। यह उन्हें बीमार बना सकता है और कई प्रकार के फंगल संक्रमणों के खतरे को भी बढ़ा सकता है।

शिशु को नहलाते वक्त इन बातो का ख्याल रखे | Precautions while Bathing your Child in Hindi

  • नहलाते वक्त बच्चे को कसकर और अच्छी तरह पकड़ कर रखें। इस दौरान शिशु ज्यादा हलचल करते है।
  • शिशु पर कभी भी नहलाते वक्त सीधे तौर पर उनके शरीर पर पानी डालने की गलती ना करे। हमेशा उनके शरीर पर अपना हाथ रखें और फिर उसके ऊपर से पानी डालें। इससे बच्चे की नाजुक स्किन को कोई नुकसान नहीं पहुंचेगा।
  • शिशु को नहलाने के लिए मार्केट में बाथ टब या बाथ चेयर आती है उसका इस्तेमाल करें। इसमें आप बच्चे को अच्छी तरह बैठाकर या लेटाकर नहला सकती हैं। हमेशा बच्चे के पैर पर पानी डालकर नहलाना शुरू करें।
  • नहलाते वक्त शिशु के प्रोडक्ट का भी खास ध्यान रखें। ऐसे कोई प्रोडक्ट इस्तेमाल ना करें, जो बच्चे की स्किन पर कठोर साबित हो। उनकी सेंसिटिव स्किन पर इनसे रैशेज हो सकते हैं। हमेशा अच्छे और सौम्य बेबी प्रोडक्ट चुनें।
  • शिशु को नहलाते वक्त ध्यान रखे कि पानी आंख और कान मे ना जाये।

About the author

Surbhi

मेरा नाम सुरभि है और ब्लोगिंग मेरा पेशन है. में अपने ब्लॉग पर आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खों के बारे में बताती हु. आप सभी जानते है की आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खे हमारे लिए कितना फायदेमंद है और इनका किसी तरह का साइड इफ़ेक्ट नहीं है. इसलिए में अपने ब्लॉग पर आपको आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खों के बारे में बताउंगी ताकि आप इन्हें अच्छे से जान सके और बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के खुद में बदलाव ला सके.

Leave a Comment