Sex Life

महिलाओं की यौन स्वास्थ्य समस्याएं | Female Sex Problem in Hindi

Female sex problem in hindi
Written by Surbhi
Spread the love

सेक्स किसी भी रिलेशनशिप का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होता है। यह रिश्ता प्यार और विश्वास पर टिका होता है। इस रिश्ते मे दोनो पार्टनर ही पार्टनर अहम रोल प्ले करते हैं। पर कभी कभी इस रिश्ते मे महिलाओं को सेक्स समस्याऐ हो जाती। ये समस्या कई प्रकार की होती है। जो इस प्रकार है

1. गुप्तांग मे जलन और सूजन-

कभी कभी सेक्स के दौरान महिलाओं को गुप्तांग में जलन या सूजन की शिकायत हो सकती है। वजाइना के आस पास के हिस्से मे सूजन हो जाती है जो दर्द का कारण बनती है। स्किन ज्यादा रब होने के कारण भी होने वाली जलन से बैठने में महिला को परेशानी होती है। साथ ही में चलने मे भी तकलीफ होती है जब महिला को इन सब परेशानियां का सामना करना पड़ता है तो यह स्थिति काफी मुश्किल भरी हो जाती है।

2. क्रैंप की समस्या

बैक टू बैक सेक्स कभी कभी क्रैप का कारण बन जाता है। क्योकि बैक टू बैक सेक्स से आपके मसल्स पर बहुत ज्यादा प्रभाव पड़का है। कई बार तो यह ऐंठन आसानी से उतर जाती है लेकिन कभी  कभी यह इतनी बढ जाती है कि इसमे दवाई या फिर डॉक्टर का परामर्श लेना पड़ता है। खासकर महिलाओं को पैरों में ऐसी ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

3. सेक्स के दौरान दर्द

सेक्स के दौरान महिलाओं को, योनि में दर्द होना बहुत आम माना जाता है और जब महिलाओं मे उत्तेजना बढ़ती है तब दर्द भी कम हो जाता है। पर अगर  हर बार सेक्स करने पर योनि में पहले की तरह ही दर्द हो और सेक्स करने के बाद भी यह दर्द लंबे समय तक बना रहे और ठीक न हो तो यह एक सेक्स समस्या है। इस समस्या के कई कारण हो सकते है जैसे-बेसन बाउल सिंड्रोम,एक्टोरिक प्रेगनेंसी, योनी मे घाव लगने, एक्जिमा, मेनोपॉज होना, पुरुष का लिंग लंबा और मोटा होना आदि।

4. महिलाओं मे सेक्स के दौरान ब्लीडिंग

पहली बार सेक्स मे ब्लीडिंग होना कोई समस्या नही है क्योकि पहली बार सेक्स करने पर जब महिला के योनि की सील टूटती है तो उसके कारण योनि से ब्लीडिंग होती है। लेकिन हर बार सेक्स करने के दौरान ब्लीडिंग हो तो यह एक यौन समस्या है।। इस तरह की सेक्स समस्या का कारण योनि में इंफेक्शन, हार्मोनल दिक्कत  गर्भाशय के कैंसर के कारण या किडनी मे कोई प्राबलम के वजह से होती है। ऐसी कोई समस्या अगर नजर आये तो तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए।

5. महिलाओं में वेजाइनिस्मस की

जब  महिला के योनि के आसपास की मांसपेशियां टाइट हो जाती हैं। तब यह समस्या देखी जाती है। इस समस्या के कारण योनि में दर्द होता है। चाहे आप सेक्स करें या ना करें तब भी वेजाइनिस्मस (Vaginismus) की समस्या बनी रहती है इससे प्रभावित महिला  अगर अपने जननांगों के आसपास हाथ से छूती है तो भी दर्द होता है और इस समस्या का कारण महिला का बलात्कार होने, यौन हिंसा होने, प्रेगनेंसी से डरने और यीस्ट इंफेक्शन के कारण होती है।

6. महिलाओं में क्लैमीडिया की-

यह यौन समस्या असुरक्षित शारीरिक संबंध बनाने और संक्रमित व्यक्ति के साथ ओरल सेक्स करने के कारण होती है। क्लैमिडिया का कारण बैक्टीरिया होता है। 70 से 80 प्रतिशत महिलाओं में इस समस्या के शुरूआती लक्षण नहीं दिखायी देते हैं। महिलाओं को क्लैमिडिया होने पर पेशाब करने में दर्द, योनि से मासिक धर्म के दौरान सामान्य से अधिक दर्द और सेक्स के बाद दर्द होता है।

7. यूरिनेरी ट्रैक्ट इंफेक्शन

इस संक्रमण के होने पर महिलाओं को काफी दर्द होता है। ज्यादा सेक्स महिलाओं में यूरिनेरी ट्रैक्ट इंफेक्शन यानी यूटीआई की समस्या होने के चांस भी बढ़ा देता है। यह इंफेक्शन तब होता है जब यूरिनेरी ट्रैक्ट के जरिए बैक्टीरिया यूट्रस और फिर ब्लैडर में चला जाता है, जहां इसकी संख्या बढ़ जाती है। सिर्फ दवाइयों से ही यह इंफेक्शन ठीक हो पाता है।

8. लोअर बैक में दर्द

ज्यादा सेक्स आपकी लोअर बैक पर प्रेशर बढ़ाता है, इससे वहां दर्द होने लगता है। यदि इसका ध्यान नहीं रखा जाए तो दर्द बढ़ सकता है और डॉक्टर तक को दिखाने की नौबत आ सकती है।

9. महिलाओं में ऑर्गेज्म

आंकड़ों के अनुसार 50 प्रतिशत से ज्यादा महिलाएं चरम सुख प्राप्त नहीं कर पाती हैं। जिसके कारण वे महिलाऐ अपनी सेक्सुअल लाइफ से संतुष्ट नहीं हो पाती हैं। ऐसा माना जाता है कि महिलाओं में यह यौन समस्या बच्चे के जन्म के बाद हार्मोन मे परिवर्तन आने, योनि में सूखापन आने, अधिक शराब और ड्रग्स का सेवन करने, और अधिक तनाव के कारण होता है।

10. महिलाओं में सेक्स न करने की इच्छा

ज्यादातर महिलाओं को सेक्स करने की इच्छा नहीं होती है। देखा जाय तो महिलाओं मे सेक्स करने की इच्छा एक उम्र के बाद घटती है। लेकिन यह समस्या महिलाओं को किसी भी उम्र में हो सकती है। यह कोई आम समस्या नही बल्कि एक यौन समस्या है। यह समस्या सेक्स के दौरान योनि में दर्द, डिप्रेशन, गर्भनिरोधक गोलियों के सेवन और बच्चे को स्तनपान कराने के कारण होती है। ज्यादातर वर्किंग महिलाओं में सेक्स करने की इच्छा में कमी पायी गयी है।

About the author

Surbhi

मेरा नाम सुरभि है और ब्लोगिंग मेरा पेशन है. में अपने ब्लॉग पर आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खों के बारे में बताती हु. आप सभी जानते है की आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खे हमारे लिए कितना फायदेमंद है और इनका किसी तरह का साइड इफ़ेक्ट नहीं है. इसलिए में अपने ब्लॉग पर आपको आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खों के बारे में बताउंगी ताकि आप इन्हें अच्छे से जान सके और बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के खुद में बदलाव ला सके.

Leave a Comment