Ayurveda Treatments

शिलाजीत का सेवन क्यों और कैसे करें?

shilajit-ke-fayde-aur-nuksaan
Written by Amisha Bharti

शिलाजीत से जुडी पूर्ण जानकारी

शिलाजीत जड़ी बूटी से बनी आयुर्वेदिक दवाई का नाम है जो आपने बाबा रामदेव से कई बार उनके वीडियोस और विज्ञापन में सुना और पढ़ा होगा ये जड़ी बूटी से बने टेबलेट्स पुरुषो के लिए है जिसके सेवन से उनमे जोश, शक्ति, ऊर्जा बढती है। शिलाजीत में अश्वगंधा, सोना जैसे कई प्राकर्तिक गुण होते है। एक्सपर्ट्स के अनुसार शिलाजीत में जो भी तत्व होते है वो प्राकर्तिक है और किसी का भी कोई साइड इफ़ेक्ट नही होता।

इसके सेवन से पुरुषों में ताकत के साथ साथ भरपूर जोश भर जाता है। इस दवाई को डाबर कंपनी १३० सालो से भी ज्यादा सालो से बना रही है। आप कह सकते हैं डाबर आयुर्वेदिक प्रोडक्ट्स का ब्रांड है. महिलाए भी इस प्रोडक्ट का इस्तेमाल करती है। इसका प्रयोग करने पर वो दिनभर चुस्ती और फुर्ती महसूस करती है। आप दूध और पानी के साथ डाबर शिलाजीत गोल्ड के कैप्सूल ले सकते है।

इस दवा को लेने से कई लोगो को कुछ परेशानियाँ होती है जैसे-

पेट में अजीब अजीब सा महसूस होना क्योकि पेट शिलाजीत लेने से कई बार संवेदनशील हो जाता है और कई बार लोगो को सिर में दर्द होने लगता है।

shilajit-ke-fayde-aur-nuksan

डाबर शिलाजीत गोल्ड के फायदे | Shilajit Gold Benefits

इसमें मौजूद तत्वों का क्या क्या फायदा होता है आइए जानते हैं –

  • शुद्ध शिलाजीत

हिमालय से इस शिलाजीत को लाया जाता है. इसका उपयोग करने से शरीर में ऊर्जा भर जाती है. इसका प्रयोग खासकर मधुमेह, सर्दी, और रक्तचाप को दुरुस्त करने के लिए किया जाता है।

  • कौंच

इस चिकित्सीय पौधे से मासपेशियों मजबूत होती है और जीवन शक्ति बढती है।

  • सोना

इसके सेवन से व्यक्ति को दिमाग से और ज्ञान से सम्बन्धी कामो को करने के लिए शक्ति मिलती है।

  • अश्वगंधा

इस बेमिसाल जड़ी बूटी का इस्तेमाल इम्युनिटी सिस्टम को मजबूत करने और शक्ति बढाने के लिए किया जाता है।

  • सफेद मुसली

इस जड़ी बूटी शरीर में शक्ति बढ़ती है. इसका प्रयोग महिलाए और पुरुष दोनों ही कामेच्छा को बढाने के लिए करते है।

  • गोक्षर

इस पौधे से बना पाउडर शरीर को मजबूती तो देता ही है साथ ही शरीर में शक्ति बढ़ाने में भी मदद करता है।

  • रजत भस्म

दवा में ये तत्व आखो, दिल, रक्त कोशिकाएं, दिमाग और गुर्दों के लिए फायदेमंद है, इससे अंदरूनी मजबूती और ताकत भी मिलती है।

आइये जानते हैं इस डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल का प्रयोग किन शारीरिक और मानसिक बीमारियों के इलाज के लिए किया जाता है-

इस दवा का इस्तेमाल स्वप्नदोष की समस्या को दूर करने के लिए भी किया जाता है।

  • शारीरक क्मजोरी दूर करने के लिए ।
  • पुरुषो के मर्दानी से सबंधित परेशानियों के लिए ।
  • इम्युनिटी सिस्टम को स्ट्रोंग करने के लिए ।
  • मर्दों की योंन सम्बन्धी परेशानियों के लिए ।
  • मर्दों में शुक्राणु की गुणवता को सही करने के लिए ।
  • शरीर को ऊर्जा देने के लिए ।

डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल के नुकसान | Shilajit Side Effects

डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल भी साइड इफेक्ट्स से अछुता नही है. इससे  होने वाले साइड इफेक्ट्स कभी कभी ही होते है. अगर इन नीचे दिए साइड इफेक्ट्स दिखे तो आप डॉक्टर के साथ तुरंत जाए-

  • गर्मी लगना
  • काफी पसीना आना
  • आँखों में जलन महसूस होना
  • घबराहट और बैचैनी होना
  • प्यास लगना

इस दवा से सम्बंधित कुछ सावधानियां हैं जिन्हें आपको  अपनाना चाहिए | Precautions

  • शिलाजीत बच्चो के हाथ न लगने दें।
  • इस दवा का प्रयोग 21 साल से बाद लोग ही कर सकते है. ऐसा इसलिए क्योकि इस दवा का असर प्रजनन अंगो पर पड़ता है।
  • कभी भी ज्यादा मात्रा में न ले।
  • यदि आप अतिसंवेदनशीलता की समस्या से जूझ रहे हैं तो इस दवाई का प्रयोग न करे.
  • आपको इस दवाई में डाली किसी भी जड़ी बूटी से किसी प्रकार की एलर्जी है तो इस दवा का इस्तेमाल न करे।
  • अगर आप कोई एनर्जी सप्लीमेंट ले रहे है या कोई विटामिन की गोली खा करहे है तो शिलाजित का सेवन डॉक्टर से बिना पूछे न करे।
  • शराब और शिलाजीत एक साथ नही लेने चाहिए।
  • अगर आप स्तनपान कराती है तो आपको इस दवा का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरुर करे।
  • गर्भवती स्त्रियों को भी इस दवा का सेवन बिना डॉक्टर से सलाह किए नही करना चाहिए.
  • कभी भी इस दवा का प्रयोग खाली पेट न करे. कुछ न कुछ खाने के बाद ही इन कैप्सूल का सेवन करना चाहिए।
  • ज्यादातर पुरुषो को ही इस दवा को लेने की सलाह दी जाती है।

कुछ और जरुरी जानकारी | More about Shilajit

  • कुछ लोगो को लगता है अगर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल ज्यादा समय तक लेने से इसकी आदत हो जाती है, ऐसा नही है। डॉक्टर से परामर्श के अनुसार ही इस दवा का सेवन करे. आपको इसकी आदत नही पड़ेगी। 
  • इन कैप्सूल को डॉक्टर्स की सलाह के बाद दिन में दो बार ही लिया जा सकता है।
  • इस दवाई को एक से तीन महीने तक ले सकते है वो भी अगर डॉक्टर कहे तो।
  • अगर कोई आप जैसी किसी परेशानी से जूझ रहा है आप अपनी दवा उनको नही दे. उनसे कहे डॉक्टर से संपर्क करे।
  • कभी भी जितनी दवा डॉक्टर ने कही है उतनी ही ले, अपनी मर्जी से ज्यादा न ले. अगर गलती से आपने ज्यादा डोस ले लिया है तो डॉक्टर से तुरंत संपर्क करे या अपने पास के किसी हॉस्पिटल जाए और डॉक्टर को दवा दिखाए ताकि उनको पता चले की आपने कौन सी दवा ली है। आप ये जान ले शिलाजीत की दवा से अधिक सेवन से कई दुष्प्रभाव हो सकते है जो खतरनाक होते है।
  • अगर आप दवाई समय पर लेना भूल जाते है तो आप अलार्म लगा ले ताकि समय पर सही डोस आप ले सके।

About the author

Amisha Bharti

मैं अमीषा पेशन से एक हेल्थ ब्लॉगर हु. मैं अपने ब्लॉग में लोगों को बीमारियों से मुक्ति दिलाने के तरीकों के बारे में बताती हूँ. आप मेरे ब्लॉग से हेल्थ से संबधित सभी तरह की जानकारी पा सकते है.

Leave a Comment