Mind & Body

स्किप्पिंग से कैसे होता है वजन कम?

skipping-se-kaise-karein-vajan-kam
Written by Saransh Sethi

स्किप्पिंग यानी रस्सी कूदना एक बहुत ही अच्छी कार्डियो एक्सरसाइज़ है जिससे आप वजन कम कर सकते है। अगर आप वजन कम करना चाहते है लेकिन आपके पास जिम जाने का समय नहीं है तो ऐसे में स्किप्पिंग यानी रस्सी कूदना आपके लिए एक बेहतर विकल्प है। आपने अक्सर गार्डन में लोगो को रस्सी कूदते देखा होगा और वाकई में रस्सी कूदना वजन कम करने में बेहद मददगार है।

रस्सी कूदने से पेट की चर्बी तेजी से कम होती है लेकिन रस्सी कूदना सभी के लिए आसान भी नहीं होता है। बढती उम्र और वजन की वजह से रस्सी कूदना हमारे लिए सामान्य नहीं रहता है। लेकिन अगर आपने रस्सी कूदना सीख लिया तो ना सिर्फ यह आपके वजन कम करने में मदद करेगी बल्कि आपका स्टेमिना भी बढ़ाएगी और फेफड़ों की क्षमता में भी वृद्दि करेगी।

एक व्यक्ति 1 मिनट अगर रस्सी कूदता है तो वह 10 कैलोरी तक बर्न कर लेता है। लेकिन अगर आप सोचते है की में आज रस्सी कूदना यानि स्किप्पिंग करना शुरू करू और मेरा वजन तेजी से कम होना शुरू हो जाएगा तो आप गलत है। रस्सी कूदने के दौरान आपको कुछ बातों का ध्यान रखना पड़ेगा जिसके बारे में आज की इस पोस्ट में हम आपको बताएँगे।

रस्सी कूदने यानी स्किप्पिंग के दौरान ध्यान रखे इन बातों का | Tips to Reduce Weight With Skipping in Hindi

  • सबसे पहले तो यह जानने की जरूरत है रस्सी कूदने से जो भी कैलरी बर्न होंगी वे इस बात पर निर्भर करती हैं कि रस्सी कूदना शुरू करते वक्त आपका वजन कितना था। अगर आपका वजन ज्यादा है तो फिर रस्सी कूदते वक्त आपको अतिरिक्त ऊर्जा और मेहनत की जरूरत होगी। तभी आप जरूरत के मुताबिक वजन कम कर पाएंगे।
  • रस्सी कूदने के साथ-साथ संतुलित भोजन भी वजन कम करने के लिए जरुरी है।
  • रस्सी कूदने से ना सिर्फ वजन कम होता है बल्कि हमारा स्टेमिना बढ़ता है, हड्डियां मजबूत होती है, दिल स्वस्थ रहता और मजबूत होता है जिससे हार्ट अटैक जैसे खतरे से बचा जा सकता है।
  • जम्पिंग रोप की मदद से बिना किसी डायट के बेली फैट को कम किया जा सकता है। इसके अलावा इससे बैलेंस और कोऑर्डिनेशन भी सुधरता है।
  • रोजाना आप 10 मिनट तक रस्सी कूदे इससे आप 100 कैलोरी तक बर्न कर पाएंगे।
  • आप रस्सी खुले स्थान पर ही कूदे जैसे कोई पार्क, गार्डन आदि।
  • आपको स्किप्पिंग के लिए अच्छी रस्सी और अच्छी क्वालिटी के स्पोर्ट्स सहज की जरूरत पड़ेगी।
  • 10 मिनट रस्सी कूदने से उतना फायदा होता है जितना की 30 मिनट की जोगिंग, 15 मिनट दौड़ने और 12 मिनट तैराकी करने से होता है। ऐसे में आप समझ गए होंगे की तेजी से वजन कम करने में स्किप्पिंग एक बेहतर विकल्प है।
  • आप ज्यादा से ज्यादा 20 मिनट तक ही स्किप्पिंग करें क्योंकि ज्यादा रस्सी कूदने से आपके लोअर बॉडी पर ज्यादा दबाव पड़ता है। जिससे घुटनों के चोटिल होने का खतरा बढ़ जाता है।
  • रोजाना रस्सी कूदने की आदत डाले। इसलिए इसे अपने वर्कआउट में शामिल कर दे तो ज्यादा फायदा होगा।
  • स्किप्पिंग शुरू करने से पहले वार्मअप और स्ट्रेचिंग बहुत जरुरी है। साथ ही रस्सी कूदते समय पंजो पर रहे।
  • ध्यान रहे आपको जमीन से एक इंच से ज्यादा उपर नहीं कूदना चाहिए। ज्यादा उंचा कूदने से आपके चोटिल होने का खतरा बढ़ जाता है।
  • स्पिकिंग करने के लिए पूरी तरह फ़िट होना बहुत ज़रूरी है। घुटनों में चोट, पीठ दर्द, मसल्स पुल होने या अन्य किसी भी तरह की शारीरिक समस्या होने पर स्किपिंग नहीं करना चाहिए।
  • शुरुआत में एक मिनट रस्सी कूदें और फिर 30 सेकंड आराम करें। ऐसा 4 बार यानी कुछ छह मिनट तक करें और फिर दो-तीन मिनट आराम करें। इस तरह स्किपिंग करने से हृदयगति संतुलित रहती है और कैलोरीज़ भी बर्न होती हैं।

आज की इस पोस्ट में आप अच्छे से समझ गये होंगे की रस्सी कूदना यानी स्किप्पिंग आपके लिए कितनी फायदेमंद है और रस्सी कूदने के दौरान आपको किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए इसके बारे में भी हमने आज की इस पोस्ट में जाना है। उम्मीद करता हु की आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी और अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने फ्रेंड्स के साथ शेयर करे और कमेंट बॉक्स में अपने विचार दे। 

About the author

Saransh Sethi

मेरा नाम सारांश है और में एक हेल्थ ब्लॉगर हूँ. मैं हेल्थ से संबधित जानकारी लोगों के साथ शेयर करना पसंद करता हूँ, खासकर पुरुषों से संबधित हेल्थ जानकारी. अगर आप एक पुरुष है तो यह ब्लॉग आपके लिए ही है. इस पर आप अपनी हेल्थ से जुडी सभी तरह की समस्याओं के बारे में और उनके इलाज के बारे में जानकारी पा सकते है.

Leave a Comment