Health and Diseases Women's Health

महिलाए इन् लक्षणों को नज़रअंदाज़ न करें एचआईवी हो सकता है | HIV Symptoms in Women

महिलाओं-में-एचआईवी-एड्स-के-लक्षण– Symptoms-of-HIV-in-women-in-Hindi
Written by Amisha Bharti

एच आई वी में इंसान का पूरा इम्यून सिस्टम ख़राब हो जाता है। इसीलिए इंसान कई बिमारियों और इन्फेक्शन्स का शिकार हो जाता है। इसके लक्षणों को पहचान कर इस बिमारी से आप बच सकते है।

महिलाओं में एच आई वी के लक्षण या सिम्पटम्स  पुरुषों से बहुत अलग होते है। कई बार ऐसा होता है की महिलाएं एच आई वी के शुरुआती सिम्पटम्स पर ध्यान नहीं  देती है। इन सिम्पटम्स पर ध्यान देना जरूरी होती है ताकि बीमारी वही रोकी जा सके। इन सिम्पटम्स को नज़रअंदाज़ करने से वायरस पुरे शरीर में भी फैल सकता है। इसीलिए जरूरी है इन सिम्पटम्स को पहचानना।

महिलाओं में एचआईवी एड्स के लक्षण | Symptoms of HIV in Women in Hindi

1. शरीर पर लाल चकते

महिलाओं में इस बीमारी का यह सबसे पहला लक्षण है। उनके पुरे शरीर में लाल चकते हो जाते है। इसके साथ साथ इन पर खुजली होना भी शुरू हो जाती है।  कुछ महिलाओं को खुजली नहीं भी होती है।सभी महिलाओं में निशान अलग अलग पाएं जाते है।

2. अनियमित मासिक धर्म

महिलाओं का पीरियड साइकिल अनियमित हो जाता है। इसके साथ महिलाओं में  काफी बदलाव भी देखने को मिलते है। कुछ महिलाओं में मासिक धर्म रुक जाता है। जबकि कुछ महिलाओं में सामान्य से अधिक पीरियड्स होने लगते है। 

3. फ्लू होने के लक्षण

इस बीमारी के शुरुआती लक्षण फ्लू के लक्षण जैसे होते है।पीड़ित महिला को  हल्का भुखार भी हो सकता है। भुखार के दौरान आपका शरीर गरम हो जाता है क्यूंकि आपका इम्यून सिस्टम भुखार के वायरस से लड़ता है।  लेकिन ऑफ़ एच आई वी  के दौरान ऐसा कुछ नहीं होता। आपके इम्यून सिस्टम की शक्तियां कम होनी शुरू हो जाती है। इसीलिए यह पहचान करना जरूरी होता है की यह सिर्फ फ्लू के लक्षण है या एच आई वी के लक्षण है।

4. लिंफ नोड्स में सूजन

इम्यून सिस्टम का एक हिंसा लिम्फ नोड्स भी होते है। इन नोड्स में इम्यून सेल्स स्टोर्ड रहती है। एच आई वी सबसे पहले इम्यून सिस्टम पर असर करता है। इसीलिए इस दौरान इन जगहों पर सूजन आ जाती है। यह नोड्स गर्दन में , आर्मपिट्स में और कमर में होते है। अगर इन जगहों पर सूजन है या कोई भी असामन्य बदलाव है तो यह एच आई वी के लक्षण हो सकते है।  ऐसे लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर से कंसल्ट करना चाहिए।

5. थकान महसूस होना

ज्यादातर महिलाओं में बिना कारण थकान नहीं होती है। लेकिन एच आई वी में ऐसा नहीं होता है।  इस बीमारी में आप बिना कारण ही थकान महसूस करने लग जाती है।  आपके पुरे शरीर में दर्द रहने लगता है। अगर ऐसा आपके साथ भी हो रहा है तो यह  एच आई वी के लक्षण है।  इन्हे नज़रअंदाज़ नहीं करना चाहिए।

6. वजन में गिरावट

एच आई वी के दौरान महिलाओं को भूक कम लगती है। इसके साथ ही पोषक तत्वों के अवशोषण में भी मुसीबतें आने लगती है। इन सबकी वजह से उनका वजन भी कम होने लगता है। अगर आपका वजन भी बिना कारण काम होता जा रहा है और आपको भूक भी नहीं लग रही है तो यह एच आई वी के लक्षण है।

7. पेट की समस्याएँ

अगर आपको ज्यादातर पेट की समस्याएं होती है या हर वक़्त उलटी करने का मन होता है तो इनको अनदेखा नहीं करें। यह एच आई वी के लक्षण हो सकते है। ऐसा ज्यादातर होने पर डॉक्टर को जरूर दिखाना चाहिए जिस से यह पता लग सके की यह आम बीमारी है या कोई गंभीर समस्या।

8. बुखार और रात में पसीना आना

एच आई वी से पीड़ित महिला को काफी दिनों तक काम डिग्री का बुखार रहता है। जिसकी वजह से रात में सोते वक़्त उनको लम्बे समय तक पसीना भी आता है। अगर आपको भी ऐसा कुछ हो रहा है तो यह साधारण बुखार नहीं है बल्कि एच आई वी के लक्षण है। 

9. उन्नत लक्षण

कई बार शुरुआती लक्षणों को नज़रअंदाज़ करने की वजह से महिलाओं में एच आई वी की बीमारी बढ़ जाती है। ऐसा होने पर उनमे एच आई वी के उन्नत लक्षण दिखने शुरू हो जाते है। दस्त होना, मतली और उलटी होना, माशपेशियों में दर्द होना, अचानक वजन घट जाना, जोड़ों में दर्द बढ़ जाना, लम्बे समय तक खांसी रहना, निगलने में परेशानिओ का सामना करना, सांस लेने में दिक्क्त होना, नींद ना आना आदि यह सब एच आई वी के उन्नत लक्षणों में शामिल है।

अगर आपको भी यह लक्षण दिख रहे है तो इनको अनदेखा नहीं करें। इनको अनदेखा करना मतलब गंभीर बिमारियों को न्योता देना।इस से आपकी जान भी जा सकती है। इसीलिए इन लक्षणों के दिखने पर इनको पहचानिये। पहचानते ही तुरंत डॉक्टर के पास जाकर इलाज करवाएं।

About the author

Amisha Bharti

मैं अमीषा पेशन से एक हेल्थ ब्लॉगर हु. मैं अपने ब्लॉग में लोगों को बीमारियों से मुक्ति दिलाने के तरीकों के बारे में बताती हूँ. आप मेरे ब्लॉग से हेल्थ से संबधित सभी तरह की जानकारी पा सकते है.

Leave a Comment