Health and Diseases Men's Health

पुरुषों में भी बढ़ रहा है थायराइड- थायराइड के कारण, लक्षण और इलाज

थायराइड-के-लक्षण-Symptoms-of-Thyroid-in-Men-in-Hindi
Written by Saransh Sethi

Causes, Symptoms, and Treatment of Thyroid in Men in Hindi

वैसे तो रिसर्च और शोध के अनुसार थायराइड की समस्या सबसे ज्यादा महिलाओं में होती है और पुरुषों की तुलना में महिलाओं का प्रतिशत बहुत ज्यादा है लेकिन आज के समय में खराब लाइफस्टाइल और खान-पान की वजह से पुरुष भी इससे अछूते नहीं है. थायराइड हमारे शरीर की बहुत ही जरुरी ग्रन्थि है जो की गले के आगे के हिस्से में पाई जाती है.

आज के समय में सबसे ज्यादा लोग मोटापे और थायराइड से परेशान है.आपको यह जानकार हैरानी होगी की अकेले भारत में 4.2 करोड़ लोग थायराइड से ग्रस्त है और आये दिन इसकी संख्या में इजाफा हो रहा है. इस तरह आप समझ गए होंगे की कैसे थायराइड लोगों को अपनी गिरफ्त में ले रहा है और महिलाओं नके साथ-साथ पुरुष भी अब इसकी चपेट में आने लगे है. आईये जानते है थायराइड क्या है, इसके कारण, लक्षण क्या है और कैसे इसका इलाज किया जा सकता है.

थायराइड क्या है? Thyroid Kya Hai Hindi Mei

थायराइड एक तितली के आकार की ग्रन्थि होती है जो गले के अगले हिस्से में स्थित होती है. प्रमुख रूप से थायराइड दो तरह का होता है. पहला हाइपरथायराइड जिसमे अधिक मात्रा में थायराइड हार्मोन बनने लगता है और दूसरा हाइपोथायराइड जिसमे थायराइड हार्मोन का उत्पादन कम होता है.

थायराइड ग्रन्थि शरीर की कई तरह की जरुरी गतिविधियों को नियंत्रित करती है और यह भोजन को ऊर्जा में बदलने का काम करती है. इस ग्रन्थि से निकलने वाले हार्मोन सांस, हार्ट बीट, कोलेस्ट्रोल, पाचन तन्त्र, हड्डियां आदि को नियंत्रि करते है. जब यह हार्मोन असंतुलित हो जाते है तो वजन ज्यादा या कम होने लगता है और थायराइड की समस्या हो जाती है.

थायराइड के कारण– Causes of Thyroid in Men in Hindi

  • अधिक मात्रा में एंटीबायोटिक दवाईयां लेना
  • पानी की कमी होना
  • पीने के पानी में क्लोरीन की मात्रा अधिक होने से
  • फ्लोराइड युक्त पानी पीने से
  • टाइप-1 डायबिटिज भी थायराइड का कारण हो सकता है
  • गर्दन के इलाज के रेडियेशन थेरेपी भी थायराइड का कारण बन सकता है
  • प्रेगनेंसी
  • अधिक उम्र होने पर
  • थायराइड ग्रन्थि पर गाँठ बनने से
  • आयोडीन का अधिक मात्रा और कमी से, आयोडीन का संतुलित मात्रा में सेवन जरुरी है
  • खराब जीवनशैली और गलत खान-पान
  • धुम्रपान

थायराइड के लक्षण | Symptoms of Thyroid in Men in Hindi

1. थकान और सुस्ती

थकान और सुस्ती थायराइड का एक लक्षण है. हार्ट बीट और नाडी की गति धीमी होने लगती है. लेकिन थकान और सुस्ती कई बीमारियों के लक्षणों में है, इसलिए यह सुनिश्चित करना मुश्किल है की  यह थायराइड की वजह भी हो सकती है.

2. डिप्रेशन और स्मरण शक्ति कमजोर होना

जिन लोगों को थायराइड होता है उन्हें भूलने की बीमारी लग जाती है और उनकी स्मरण शक्ति कमजोर हो जाती है और व्यक्ति डिप्रेशन का शिकार हो जाता है. ऐसे में व्यक्ति चिढचिढ़ा होने लगता है. सीधी सी बात है अगर शरीर की जरुरी गतिविधियाँ बाधित होगी तो व्यक्ति के दिमाग पर भी उसका विपरीत असर पड़ेगा.

3. मांसपेशियों में दर्द

जिन पुरुषों को थायराइड होता है उन्हें मांसपेशियों में दर्द और एंथन की शिकायत रहती है. इसका ज्यादा असर कमर और कंधे पर होता है. घुटने और पैरों में भी सुजन आने लगती है. लेकिन इससे भी यह सुनश्चित नहीं कर सकते की यह थायराइड के लक्षण ही है, क्योंकि कई तरह की बीमारियों में ऐसे लक्षण देखने को मिलते है. लेकिन यह थायराइड के भी लक्षण है.

4. वजन अनियंत्रित होना

थायराइड होने पर वजन अनियंत्रित होने लगता है कई बार बढ़ जाता है और कई बार तेजी से गिरने लगता है. अगर वजन में बदलाव तेजी से आ रहा है तो अपने डॉक्टर से सम्पर्क जरुर करें. तेजी से वजन में गिरावट शुगर का लक्षण भी है.

5. बालों और त्वचा में बदलाव होना

जिन पुरुषों को थायराइड होता है उनकी त्वचा शुष्क होने लगती है और बाल मोटे होने लगते है. त्वचा में पीलापन भी आ सकता है.

6. कब्ज की शिकायत रहना

थायराइड होने पर पुरुषों में कब्ज की शिकायत बढ़ने लगती है. यह थायराइड के मुख्य लक्षणों में से एक है.

7. ब्लड प्रेशर बढ़ना और घटना

8. सांस लेने में दिक्कत होना

9. ज्यादा पसीना आना

10. समय से पहले बालों का सफ़ेद होना

थायराइड-का-इलाज-Treatment-of-Thyroid-in-Men-Hindi

थायराइड का इलाज– Treatment of Thyroid in Hindi

हमने उपर आपको बताया है की थायराइड दो तरह का होता है पहला हाइपरथायराइड और दूसरा हाइपोथायराइड. इन दोनों तरह के थायराइड का इलाज आज की इस पोस्ट में हम आपको बताएँगे.

1. हाइपोथायराइड :- इसको दवा के जरिये ठीक किया जा सकता है. नियमित रूप से दवाओं के सेवन से जरुरी हार्मोन शरीर को मिलने लगते है. इसमें डॉक्टर हार्मोन टी-4 लेने की सलाह देता है. हाइपोथायराइड की अवस्था में यह दवा जिंदगी भर लेनी पड़ती है. लेकिन इस दवा को डॉक्टर की सलाह के अनुसार ले तो किसी तरह का नुकसान नहीं होगा.

2. हाइपरथायराइड :- हाइपरथायराइड का इलाज डॉक्टर कारण और लक्षणों को देखकर करता है. निचे हम आपको इसके इलाज के बारे में बताएँगे.

  • दवाईयों के सेवन से :- इसमें डॉक्टर एंटीथायराइड और बीटा-ब्लॉकर जैसी दवाईयां दे सकता है जिससे थायराइड हार्मोन शरीर पर असर नहीं करेगा.
  • रेडियोआयोडीन :- इसमें थायराइड हार्मोन बनाने वाले थायराइड सेल (कोशिकाओं) को नष्ट कर दिया जाता है.
  • सर्जरी :- जब मरीज को निगलने या सांस लेने में परेशानी होने लगती है तो इसकी सर्जरी की जाती है. इसमें काफी हद तक या पूरी तरह से थायराइड को निकाल दिया जाता है. लेकिन इसमें बाद में आपको जिंदगी भर थायराइड की दवाईयों का सेवन करना पड़ सकता है.

इन बातों का ध्यान रखकर थायराइड से बचा जा सकता है या इसे नियंत्रित किया जा सकता है– Precautions in T

  • समय-समय पर जांच करवाकर
  • दवाईयों का नियमित सेवन करने से
  • धुम्रपान ना करें
  • व्यायाम और योग करें
  • जीवनशैली में बदलाव करें
  • खान-पान में सुधार करें और संतुलित और पोषण युक्त भोजन करें
  • आयोडीन युक्त आहार ले, लेकिन इसकी अति ना होने दे
  • इसके लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर से सम्पर्क करें
  • थायराइड का समय पर इलाज नहीं कराया गया तो यह पुरुषों में कई तरह की समस्याएं पैदा कर सकता है, इसलिए समय पर ही इसका इलाज करवाएं

पसंद करें: थायराइड के लक्षण और उसका आयुर्वेदिक इलाज

About the author

Saransh Sethi

मेरा नाम सारांश है और में एक हेल्थ ब्लॉगर हूँ. मैं हेल्थ से संबधित जानकारी लोगों के साथ शेयर करना पसंद करता हूँ, खासकर पुरुषों से संबधित हेल्थ जानकारी. अगर आप एक पुरुष है तो यह ब्लॉग आपके लिए ही है. इस पर आप अपनी हेल्थ से जुडी सभी तरह की समस्याओं के बारे में और उनके इलाज के बारे में जानकारी पा सकते है.

Leave a Comment