General Information

Morse Code क्या होता है – What Is Morse Code In Hindi?

Morse Code क्या होता है – What Is Morse Code In Hindi
Written by Kishan

अगर आपको नही पता कि Morse Code क्या होता है तो इस ब्लॉग पोस्ट में मैं आपको detail में बताऊँगा की Morse Code क्या होता है क्या ये आज के time में भी इस्तेमाल होता है। अगर होता है तो कहाँ होता है। So हेलो guys में हूँ शिवम और आपका एक बार फिर से स्वागत है MagicalHindi वेबसाइट में।

तो अगर आप पहले की Technology के बारे में research करते रहते हो तो आपने Morse code के बारे में तो सुना ही होगा ।Morse Code का इस्तेमाल पुराने जमाने मे किया जाता था क्योंकि उस टाइम तक टेक्नोलॉजी इतनी ज्यादा नही थी। तो उसी morse code के बारे में आज की पोस्ट में आपको बताने वाला हूँ।

तो detail में जानने के लिए आपको इस ब्लॉग पोस्ट को पूरा आखरी तक पढ़ना होगा। तभी आपको समझ मे आएगा कि Morse Code क्या होता है। तो ज्यादा time न waste करते हुए चलिए start करते है।

Morse Code क्या होता है ?

Morse Code In Hindi

तो दोस्तो आपको तो पता ही होगा कि पुराने जमाने मे लोगो को अगर किसी तक कोई संदेश पहोचाना होता था तो वो एक कागज में लिखकर उसे कबूतर के पैरों में बांधकर उसे उस बंदे के पास भेज देते थे। और उसके बाद telegram की technology आयी थी। तो आजकल तो ऐसा है कि घर बैठे whatsapp में टाइप किया और भेज दिया और फट से आपका मैसेज पहोच गया उस बंदे के पास जिसको आप भेजना चाहते हो। या तो आप सीधा कॉल भी कर सकते हो। घुमा फिरा के बात ये है कि आज कल communication के बहोत साधन है।

पहले लोग अपने किसी दोस्त यार को भेजते थे चिट्ठी को पहचाने के लिए और उसकी कोई गारंटी भी नही होती थी कि वो चिट्ठी सही से पहुचेगी भी या नही। तो एक बार ऐसा ही एक साइंटिस्ट के साथ हुआ उसकी वाइफ का लेटर उसके पास बहोत समय बाद पहुचा। तब उसने एक ऐसे मशीन का आविष्कार किया जिसमे से एक तरफ से दूसरी तरफ तक कुछ रेडियो वेव्स पहुचाई जाती थी। जो कि वायर के थ्रू होता था। लेकिन फिर ये बात निकल कर आई कि उन रेडियो वेव्स को समझेंगे कैसे।

तो रेडियो वेव्स को समझने के लिए मोर्स कोड बनाया गया। तो चलिए समझते है कि Morse Code को कैसा समझा जाता था।

Morse Code को कैसे समझा जाता था ?

तो जो radio waves telegram के थ्रू भेजी जाती थी। तो इन्हें समझने के लिए आपको Morse कोड का इस्तेमाल करना होता था । पहले wires के थ्रू टेलीग्राम किया जाता फिर ये वायरलेस हो गया। तो Morse Code में dot और dash होते है । जो कि हर alphabet के लिए अलग अलग होते है। जैसे a के लिए ._ होता था और दूसरे अल्फाबेट के लिए भी अलग अलग डिज़ाइन किये गए थे।

तो इन morse code को एक sentence बनाने के लिए हर एक word का कोड लिखा जाता था अलग अलग वर्ड के लिए एक सेंटेंस बनाने के लिए। और हर वर्ड के बीच मे स्पेस होना चाहिए ताकि हर एक वर्ड को अचे से समझा जा सके और एक पूरा सेंटेंस बन जाये। इन कोड्स को भेजने के लिए कुछ रूल्स भी बनाये गए है। जैसे कि हर कोड के बीच मे गैप रहना चाहिए और भी थोड़े बहोत रूल्स थे।

तो उस वक्त communication ऐसे ही करे जाते थे और एक पतली सी स्ट्रिप वे भी कोड लिखकर उससे communicationहोता था। तो

चलिए ये तो पुराने समय मे होता था और आज कल तो बहोत सारे आसान साधन है communication करने के लिए लेकिन क्या आपको पता है कि आज के टाइम में भी ये technology इस्तेमाल की जाती है। तो अब में आपको बताऊँगा की morse code का इस्तेमाल आज के टाइम पे कहाँ और क्यों इस्तेमाल किया जाता है।

क्या Morse Code आज के टाइम पे इस्तेमाल किया जाता है ? 

How to use morse code

तो अगर आपका सवाल है कि क्या आज के टाइम में भी morse code का इस्तेमाल किया जाता है या नही तो मेरा जवाब है हाँ । आज के टाइम पे भी Morse Code का इस्तेमाल communication में किया जाता है। लेकिन ये हम तो इस्तेमाल करते नही । तो में आपको बता दू की Morse Code का इस्तेमाल Navy में किया जाता है। अब आप सोचो गए कि इस क्यों है।

तो ऐसा इसीलिए है क्योंकि पानी के अंदर bandwith बहोत कम मिलता है यानी कि पानी के अंदर इतने अच्छे से communication नही हो पाता तो Navy के officers को कम्यूनिकेट करने के लिए Morse Code का इस्तेमाल करना पड़ता है ताकि उनके काम में कुछ रुकावट न हो। और भी ऐसी जगह झा कम्युनिकेशन नही हो सकता नेटवर्क के थ्रू तो वही Morse Code का इस्तेमाल किया जाता है। तो ये Morse Code की technology अभी तक बहोत ज्यादा काम मे आती है। और उस वक्त तो थी है फायदेमंद किसी को ज्यादा wait नही करना पड़ता था।

Conclusion

तो दोस्तो मेने आपको बता दिया कि Morse Code क्या होता है। और इसे आज के टाइम कहाँ और क्यों इस्तेमाल किया जाता है। तो दोस्तो technology तो आगे बढ़ती रहती है दिन पे दिन लेकिन पुरानी technology भी कही न कही आज के टाइम पे भी इस्तेमाल करि जाती है। टेक्नोलॉजी कभी भी खत्म नही होती है चाहे वो पुरानी हो या नई।

तो दोस्तो आज के लिए इस पोस्ट में सिर्फ इतना ही। अगर आपको इससे रिलेटेड कोई भी डाउट हैं तो आप Comment कर सकते हैं  |

About the author

Kishan

मैं कृष्ण पेशे से एक हिंदी ब्लॉगर हूँ. आज के समय में जैसे-जैसे लोगों को ब्लॉग के बारे में पता चल रहा है, लोग भी अपने हुनर को लोगों तक पहुंचाना चाहते है. ऐसे में उन्हें जरूरत है सही गाइडलाइन. मेरे ब्लॉग से आप ब्लोगिंग से जुडी सारी जानकारी आसानी से पा सकते है. ब्लॉग कैसे बनाते है, पोस्ट कैसे करते है, पोस्ट को रैंक कैसे करते है आदि ब्लोगिंग से जुडी सभी चीजों के बारे में आप मेरे ब्लॉग से जानकारी पा सकते है.

Leave a Comment