Disease Health and Diseases

वर्टिगो का अर्थ है? (चक्कर आना)

vertigo-meaning-in-hindi
Written by Surbhi

वर्टिगो क्या है? What is Vertigo Meaning in Hindi

असल मे ‘वर्टि’ एक लैटिन शब्द है जिसका अर्थ है ‘घूमना’ वर्टिगो का अर्थ है सर घूमना या चक्कर आना

इसमे क्या महसूस होता है?

कभी कभी चक्कर आने या सर घूमने को हम थकान समझकर नजरअंदाज कर देते है।

लोग खुद ही इसका कारण ढूंढ कर खुद को तस्सली दे लेते है जैसे “शायद गर्मी के कारण हुआ होगा” या मैंने काफी देर से कुछ खाया नहीं” या एक्सरसाइज की वजह से होगा” या फिर मैंने नींद पूरी नही ली है।

लेकिन यहाँ ये सोचना बहुत जरूरी है कि अगर वर्टिगो ड्राइविंग के समय, भारी मशीनों पर काम करते हुऐ, सीढ़िया चढ़ते हुए या ऊंचाई पर अपना असर दिखाए तो स्थिति कितनी भयावह हो सकती है।

वर्टिगो के लक्षण | Symptoms of Vertigo in Hindi

  1. वर्टिगो में  चक्कर आने पर सब कुछ घूमता हुआ दिखाई देता है।
  2. गर्दन को इधर उधर घुमाने पर चक्कर बढ़ जाते है।
  3. जी मिचलाने या उल्टी होने की शिकायत भी होती है।
  4. बॉडी बैलेंस बिगड़ जाता है जिससे कुछ कदम चलना क्या बिस्तर से उठना भी मुश्किल हो जाता है।
  5. बहुत पसीना आता है और घबराहट महसूस होती है।
  6. इस स्थिति को ठीक होने में 4 से 6 दिन लगते है।

वर्टिगो कितने प्रकार का होता है? | Types of Vertigo in Hindi

वर्टिगो पांच प्रकार का होता है।

1-बिनाइन पेरॉक्सीस्माल पोजिनिशनल वर्टिगो

ये क्यों होता है इसका कारण ज्ञात नही है, लेकिन ये सामान्य तौर पर सबसे ज्यादा पाया जाता है। ये बहुत कम समय के होता है।

इसमे कानो में घण्टी की आवाज सुनाई देती है, ये ज्यादा सीवियर नही होते, इनर ईयर के मॉलफंक्शन के खराब होने से ये होता है। लेकिन अगर समय पर इसका इलाज ना किया जाए तो सुनने की क्षमता पर असर पड़ सकता है।

डॉक्टर को दिखाए और बताए हुए दवाई के कोर्स को पूरा करे।

इलाज बीच मे ना छोड़े क्योंकि इसके दोबारा होने की काफी सम्भावना होती है।

2-मिनियर डिसीज

इसमे नॉजिया और उल्टी की फीलिंग ज्यादा होती है, कानो में घण्टिया भी बजती है।

जब कान के अंदर फ्लूइड की मात्रा ज्यादा हो जाती हैं तो ईयर बैलेंस बिगड़ जाता है।

इससे कान में दबाव बढ़ जाता है, जिससे सुनने की क्षमता पर प्रभाव पड़ सकता है।

स्थिति गम्भीर होने पर सर्जरी करनी पड़ सकती है। दवाई का कोर्स कम्पलीट करे, बेड रेस्ट करे। इसमे डॉक्टर इंटिवर्टिगो और एंटीबायोटिक की सलाह देते है।

3-रिकरेंट वेस्टिबुलोपैथि

ये मिनियर डिसीज से मिलता जूलता होता है, ये खुद ब खुद ठीक हो जाता है।

अच्छी जीवनशैली से इसका प्रभाव कम हो जाता है। इसका ब्रेन से कोई सम्बन्ध नही होता है।

4- वायरल लेबिरिनथाइटिस

सबसे पहले ये जान लीजिए कि ब्रेन और कान का आपस मे कनेक्शन नर्व्स के जरिए होता है। इसमे दो नर्व्स अलग अलग काम करती है जैसे कॉक्लियर नर्व आवाज और शब्द को पहचानकर सूचना देती है। वेस्टिब्यूलर नर्व उसी सन्देश के अनुसार शरीर का बैलेंस बनाती है। यदि वायरल इन्फेक्शन से दोनो में से कोई भी प्रभावित होती है तो वर्टिगो की स्थिति आती है।

5-वेस्टिब्यूलर न्यूरोनिटीस

वेस्टिब्यूलर नर्व की सूजन से वर्टिगो होता है, इसमे ना कानो में घण्टिया बजती है ना ही सुनने की क्षमता पर फर्क पड़ता है।

क्या करे?

चक्कर महसूस होने के साथ यदि नॉजिया या उल्टी महसूस होतो घबराए ना। तुरन्त डॉक्टर को दिखाए वो लक्षणो के अनुसार आपका इलाज करेगा। चक्कर आने पर खड़े ना रहे धीरे धीरे नीचे बैठ जाए, फिर कोई सहारा लेकर ही खड़े हो। जो भी काम कर रहे हो उसे तुरंत रोक दे।

Dhyan De: प्रत्येक चक्कर को वर्टिगो ना समझे

कई बार कुछ दूसरी परिस्थितियों के  कारण भी चक्कर आते है, लक्षण के आधर पर आप अंतर समझ सकते है।

कुछ दूसरी स्थितियां निम्न है:

  • मधुमेह होने पर
  • गर्भावस्था में
  • ब्रेन से सम्बंधित बीमारी होने पर
  • लम्बे समय तक नींद पूरी ना होने पर
  • खून की कमी होने पर
  • कैल्शियम की कमी होने पर
  • नशे की लत होने पर
  • हार्मोनल परेशानियों में
  • मेटाबोलिज्म से सम्बंधित परेशानी होने पर
  • ब्लड प्रेशर कम होने या ज्यादा होने पर
  • हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल में
  • लगातार कंप्यूटर पर काम करना
  • पानी की कमी होने पर

वर्टिगो का इलाज | Treatment of Vertigo in Hindi

दवाइयों के अलावा आप भी इसे ठीक करने की कोशिश कर सकते है। इसके लिए मैडिटेशन और नियमित आहार पर ध्यान दे। वर्टिगो के लिए कुछ घरेलू उपचार निम्न है।

  1. अदरक
    अदरक का छोटा सा कच्चा टुकड़ा चबाए या कद्दूकस करके पानी मे उबाल कर उस पानी को पिए।
  2. इलायची
    थोड़े से तिल के तेल को गर्म करके  उसमें दालचीनी  पाउडर और  इलायची मिलाकर कुछ देर और गर्म करें। इस तेल की मालिश गर्दन और सर पर करें।
  3. धनिये के बीज
    एक कप पानी मे धनिये के बीज उबालकर, छान लें फिर उस पानी को पिए।
  4. आँवला
    आँवले को किसी भी रूप में शामिल करें। आप आंवले का जूस, मुरब्बा या कैंडी ले सकते है
  5. लेमनबाम
    लेमनबाम को पानी मे 15 मिनट तक उबाले और छान कर पी ले
  6. मालिश
    आयुर्वेदिक या हर्बल आयल से मसाज करें।
  7. लोंग
    एक गिलास पानी मे दो लोंग उबालकर पिए
  8. तुलसी
    तुलसी के पत्तो का रस निकालकर शहद मिलाकर खाए।

अन्य घरेलु उपाय | Home Remedies for Chakkar Ana

  • 10 ग्राम आँवला, 10 ग्राम बताशे और 3 ग्राम काली मिर्च को पीसकर मिला ले।कम से कम15 दिन तक सेवन करे।
  • 20 ग्राम मुनक्के को भूनकर सेंधा नमक मिलाकर खाए।
  • खरबूज के बीज खाए।
  • नारियल पानी पिएं।

क्या योग वर्टिगो में फायदा करता है? | Is Yoga Beneficial for Treatment of Vertigo in Hindi?

वर्टिगो में योग बहुत लाभदायक होता है, इसमे आप निम्न योग कर सकते है।

  • शनमुखी मुद्रा
  • नाड़ी शोधन प्राणायाम
  • सलंब शीर्षासन
  • हलासन
  • शवासन
  • नीचे की और झुकने वाले आसन ना करे।

About the author

Surbhi

मेरा नाम सुरभि है और ब्लोगिंग मेरा पेशन है. में अपने ब्लॉग पर आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खों के बारे में बताती हु. आप सभी जानते है की आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खे हमारे लिए कितना फायदेमंद है और इनका किसी तरह का साइड इफ़ेक्ट नहीं है. इसलिए में अपने ब्लॉग पर आपको आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खों के बारे में बताउंगी ताकि आप इन्हें अच्छे से जान सके और बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के खुद में बदलाव ला सके.

Leave a Comment